1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Sanjay Raut का बड़ा दावा, बोले-बागी एमएलए धोखा खाने के बाद फिर से मूल पार्टी में लौटेंगे

Sanjay Raut का बड़ा दावा, बोले-बागी एमएलए धोखा खाने के बाद फिर से मूल पार्टी में लौटेंगे

महाराष्ट्र में नई सरकार ने विधानसभा में बहुमत हासिल कर लिया है। इसके बाद शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत एक बार फिर से मीडिया के सामने आए और भाजपा और शिंदे गुट के गठबंधन के जमकर हमला बोला है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। महाराष्ट्र में नई सरकार ने विधानसभा में बहुमत हासिल कर लिया है। इसके बाद शिवसेना (Shiv Sena) के राज्यसभा सांसद संजय राउत एक बार फिर से मीडिया के सामने आए और भाजपा और शिंदे गुट के गठबंधन के जमकर हमला बोला है।

पढ़ें :- Independence Day : पीएम मोदी ने लाल किले से किया वार, बोले- कुछ लोग भ्रष्टाचारियों का कर रहे हैं महिमामंडन

राउत ने कहा कि भाजपा और शिंदे गुट का गठबंधन एक अस्थायी व्यवस्था है, वे लोगों के पास नहीं जा सकेंगे। वे जब शिवसेना में थे तब शेर थे लेकिन अब डर के मारे सुरक्षा के साथ घूम रहे हैं। राउत ने कहा कि कसाब के पास भी इतनी सुरक्षा नहीं थी लेकिन जितनी कि बागी एमएलए को दी गई है। आप किससे डरते हैं ? क्यों डर रहे हैं?

हम दोबारा चुनकर आएंगे: संजय राउत

हमारी पार्टी कमजोर नहीं होगी, ऑक्सीजन हमारी शक्ति नहीं है। हम इसीलिए मजबूत नहीं हैं क्योंकि हम सत्ता में हैं। हम मजबूत हैं इसलिए सत्ता में हैं। लोग आते हैं जातें हैं। राउत ने बागी नेताओं के बारे में बात करते हुए कहा कि उन्होंने हमारी पार्टी में शामिल होने का विकल्प चुना और बाहरी ताकतों के कारण चले गए। हम गांवों में जाएंगे, अन्य लोगों को अपनी पार्टी में शामिल करेंगे। हमें भरोसा है कि हमलोग दोबारा चुनकर आएंगे।

बदले की भावना से पार्टी तोड़ी

पढ़ें :- सावरकर ने द्वि-राष्ट्र का सिद्धांत दिया और जिन्ना ने इसे आगे बढ़ाया : Jairam Ramesh

राउत ने कहा कि बदले की भावना से हमारी पार्टी को तोड़ी गई है। पार्टी को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है। राउत ने कहा कि विधायकों का जाना अस्थायी है। वे धोखा खाने के बाद फिर से मूल पार्टी में लौटकर आएंगे।

एकनाथ शिंदे सरकार फ्लोर टेस्ट पास

महाराष्ट्र में आज एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित कर दिया। इसी के साथ ये भी तय हो गया कि अब एकनाथ शिंदे की सरकार बरकरार रहेगी। फ्लोर टेस्ट में शिंदे के पक्ष में 164 मत पड़े। विपक्ष में 99 विधायकों ने वोट डाला। एनसीपी और कांग्रेस के सात विधायक वोटिंग में शामिल नहीं हुए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...