1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Pfizer & Moderna के कॉकटेल से तैयार होगी ‘संजीवनी बूटी’, अब कोरोना का होगा सफाया

Pfizer & Moderna के कॉकटेल से तैयार होगी ‘संजीवनी बूटी’, अब कोरोना का होगा सफाया

कोरोना महामारी ने तबाही का ऐसा मंजर दुनिया को दिखाया कि हर तरफ लाशों के ढेर लग गया। इसके खात्मे के लिए देशों ने जल्द से जल्द वैक्सीन बनाने का काम शुरू किया है। भारत में जहां लोगों को कोवैक्सीन और कोविशील्ड दिया जा रहा है। वहीं अलग-अलग देशों में अलग वैक्सीन मिल रहे हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना महामारी ने तबाही का ऐसा मंजर दुनिया को दिखाया कि हर तरफ लाशों के ढेर लग गया। इसके खात्मे के लिए देशों ने जल्द से जल्द वैक्सीन बनाने का काम शुरू किया है। भारत में जहां लोगों को कोवैक्सीन और कोविशील्ड दिया जा रहा है। वहीं अलग-अलग देशों में अलग वैक्सीन मिल रहे हैं।

पढ़ें :- China corona virus: वुहान में घातक वायरस ने मचाया कहर,लॉकडाउन की आहट से बाजारों में अफरा तफरी

भारत में रूस के स्पुतनिक की डोज भी अब उपलब्ध है। हालांकि, इनमें से कोई भी वैक्सीन उम्र भर के लिए कोरोना से बचाने का दावा नहीं करती। इसे बीच अब एक नए शोध में सामने आया है कि अगर इंसान को Pfizer-BioNTech और Moderna की एक-एक डोज दी जाए, तो उनकी बॉडी हमेशा के लिए कोरोना के खिलाफ एंटीबाडी बना लेगी।

द न्यूयार्क टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़, रिसर्च में पाया गया है कि अगर किसी इंसान को इन दो वैक्सीन को मिक्स कर एक एक डोज दिया जाए। तो उनका इम्यून सिस्टम कोरोना के खिलाफ जिंदगीभर लड़ने में सक्षम हो जाएगा। इसके अलावा जब इन दो वैक्सीन को मिक्स किया गया तो पाया गया कि इससे बॉडी में न्यूट्रलाइजिंग एंटीबाडी काफी ज्यादा बनने लगती है। वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के लीड ऑथर डॉ अली एलबेदी के मुताबिक़, ये एक काफी अच्छी खबर है। इस मिक्स से शायद महामारी की हमेशा के लिए छुट्टी की जा सकेगी।

ऐसे की गई रिसर्च

नेचर जर्नल में इस स्टडी को पब्लिश किया गया है। इस स्टडी के लिए टीम ने फाइजर वैक्सीन की दोनों खुराक प्राप्त करने वाले 14 लोगों को भर्ती किया है। इनमें से आठ लोग पहले कोविड-19 से इन्फेक्ट हो चुके थे। शोधकर्ताओं ने इनके लिम्फ नोड्स को देखा, जो एक प्रकार की प्रतिरक्षा प्रणाली कोशिका का निर्माण करते हैं जिसे मेमोरी बी सेल के रूप में जाना जाता है। मेमोरी बी कोशिकाएं अटैक करने वाले वायरस को पहचान कर उन्हें बॉडी में सर्वाइव नहीं करने देती है। रिसर्च में सामने आया कि अगर इन दो वैक्सीन को मिक्स किया जाए तो मेमोरी बी कोशिकाएं वर्षों तक बॉडी में एक्टिव रहेगी।

पढ़ें :- America: अमेरिका में RS वायरस की दस्तक, वायरस का असर इस उम्र पर अधिक

इन वेरिएंट पर असरदार

स्टडी में दो तरह के कोरोना वेरिएंट पर रिसर्च की गई। इसमें यूके के अल्फ़ा वेरिएंट और साउथ अफ्रीका के बीटा वेरिएंट शामिल है। हालांकि, भारत के डेल्टा पर इन दो वैक्सीन को मिक्स करने का क्या असर होगा, इस पर रिसर्च नहीं हो पाई है। इस स्टडी में वैसे तो सिर्फ Pfizer के दोनों डोज लिए लोगों ने पार्टिसिपेट किया, लेकिन चूंकि इसी टेक्नोलॉजी के आधार पर मॉडर्ना बनी है, ऐसे में सेम रिजल्ट एक्सपेक्ट किया जा रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...