सपा से एक और MLC हुआ बागी, सरोजनी अग्रवाल ने थामा BJP का दामन

लखनऊ। यूपी में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की सरकार बनने के बाद विपक्षी पार्टीयों के कद्दावर नेताओं के बगावत का सिलसिला बदस्तूर जारी है। हाल ही में सपा के दो एमएलसी और बसपा के एक एमएलसी ने पार्टी छोड़ भाजपा का दामन थामा था। शुक्रवार को सपा की एमएलसी सरोजनी अग्रवाल ने पार्टी से इस्तीफा देकर भाजपा ज्वाइन कर ली है।

Sapa Mlc Sarojini Agarwal Joins Bjp :

एमएलसी सरोजनी अग्रवाल सपा के कद्दावर नेता आज़म खान की करीबी रही हैं। लंबे वक्त तक सपा से जुड़ी रहीं सरोजनी अग्रवाल मेरठ की मशहूर स्त्री रोग स्पेशल‍िस्ट भी हैं। बताया जाता है, आजम खान ने ही उन्हें एमएलसी बनवाया था जबकि अखिलेश सरकार में मंत्री रहे मेरठ के ही शाहिद मंजूर सरोजनी के एमएलसी बनाये जाने के खिलाफ थे।

सपा से इस्तीफा देने के बाद सरोजनी अग्रवाल ने कहा, ज‍िस तरह से सपा में मुलायम स‍िंह यादव को दरक‍िनार क‍िया जा रहा है, उससे मैं आहत हूं। अब जब नेताजी ही पार्टी में नहीं हैं तो मेरे रहने का भी कोई औच‍ित्य नहीं है। सरोजनी ने कहा, नेताजी के कारण दो बार व‍िधानपर‍िषद की मेंबर रही हूं। मेरा 30 जनवरी 2021 तक का कार्यकाल है, लेक‍िन मैं उस पद से भी इस्तीफा दे रही हूं।

बता दें क‌ि बीती 29 जुलाई को बुक्कल नवाब और यशवंत स‌िंह ने भी सपा छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली है। वहीं बसपा के ठाकुर जयवीर सिंह ने भी एमएलसी पद से इस्तीफा देकर 2 दिन बाद भाजपा ज्वाइन कर ली थी।

लखनऊ। यूपी में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की सरकार बनने के बाद विपक्षी पार्टीयों के कद्दावर नेताओं के बगावत का सिलसिला बदस्तूर जारी है। हाल ही में सपा के दो एमएलसी और बसपा के एक एमएलसी ने पार्टी छोड़ भाजपा का दामन थामा था। शुक्रवार को सपा की एमएलसी सरोजनी अग्रवाल ने पार्टी से इस्तीफा देकर भाजपा ज्वाइन कर ली है।एमएलसी सरोजनी अग्रवाल सपा के कद्दावर नेता आज़म खान की करीबी रही हैं। लंबे वक्त तक सपा से जुड़ी रहीं सरोजनी अग्रवाल मेरठ की मशहूर स्त्री रोग स्पेशल‍िस्ट भी हैं। बताया जाता है, आजम खान ने ही उन्हें एमएलसी बनवाया था जबकि अखिलेश सरकार में मंत्री रहे मेरठ के ही शाहिद मंजूर सरोजनी के एमएलसी बनाये जाने के खिलाफ थे।सपा से इस्तीफा देने के बाद सरोजनी अग्रवाल ने कहा, ज‍िस तरह से सपा में मुलायम स‍िंह यादव को दरक‍िनार क‍िया जा रहा है, उससे मैं आहत हूं। अब जब नेताजी ही पार्टी में नहीं हैं तो मेरे रहने का भी कोई औच‍ित्य नहीं है। सरोजनी ने कहा, नेताजी के कारण दो बार व‍िधानपर‍िषद की मेंबर रही हूं। मेरा 30 जनवरी 2021 तक का कार्यकाल है, लेक‍िन मैं उस पद से भी इस्तीफा दे रही हूं।बता दें क‌ि बीती 29 जुलाई को बुक्कल नवाब और यशवंत स‌िंह ने भी सपा छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली है। वहीं बसपा के ठाकुर जयवीर सिंह ने भी एमएलसी पद से इस्तीफा देकर 2 दिन बाद भाजपा ज्वाइन कर ली थी।