सरकार का दावा झूठा, इराक में लापता भारतीयों के नाम पर देश को गुमराह किया: कांग्रेस

नई दिल्ली। इराक में गायब हुए 39 भारतीय नागरिक देश के लिए रहस्य का विषय बने हुए हैं। जहां एक तरफ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज दावा कर रही हैं कि गायब भारतीय ज़िंदा हैं और उन्हें बादुश नामक इलाके के एक जेल में कैद रखा गया है वहीं मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो जिस जेल में भारतीय नागरिकों के कैद होने की बात कही जा रही है उसे ISIS ने पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया है जिसमे सभी कैदी मारे जा चुके हैं। इसी बात को तथ्य मानते हुए कांग्रेस सरकार को घेरने में लगी हुई है। कांग्रेसी नेता प्रताप सिंह बाजवा ने शुक्रवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सुषमा स्वराज गायब लोगों के ज़िंदा होने की झूठी दिलासा देकर उनके परिजनों के भावनाओं से खेल रही है, झूठी आस दिलाकर देश को गुमराह किया जा रहा है जो बिलकुल शर्मनाक है। गायब लोगों के परिजन आज भी सरकार के इस झूठ को सच मानते हुए इस उम्मीद में बैठे हैं कि वो आएगा।

गौरलतब है कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इराक में लापता हुए 39 भारतीयों को बदुश जेल में होने की संभावना जताई थी, यह मोसुल के उत्तरपश्चिमी हिस्से में स्थित एक गांव है। विदेश मंत्री ने बताया था कि लापता हुए भारतीय आईएसआईएस के आतंकियों ने 2014 में किडनैप किया था।

बताते चलें कि बादुश नाम के जिस इलाके में इस जेल के होने की बात कही जा रही थी, वह इलाका अब पूरी तरह उजड़ चुका है। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि उस जेल को ISIS ने तबाह कर दिया है। इस जानकारी के सामने आने के बाद अब विपक्षी दल कांग्रेस ने सुषमा को निशाने पर ले लिया है। पार्टी का कहना है कि विदेश मंत्री ने इस मुद्दे पर देश को गुमराह किया है।