दिल्ली के अस्पतालों के खिलाफ मरीजों का सत्याग्रह

Satyagraha
दिल्ली के अस्पतालों के खिलाफ मरीजों का सत्याग्रह

नई दिल्ली। दिल्ली में अस्पतालों द्वारा की जा रही मनमानी के चलते मरीजों में अस्पतालों के प्रति खासा नाराजगी देखने को मिल रही हैं। इसी के चलते मरीजों व स्थानीय नागरिकों ने दिल्ली मे सत्याग्रह किया और राजघाट से लेकर दिल्ली सचिवालय तक शवयात्रा भी निकाली। मरीजो की मांग है कि दिल्ली के निजी अस्पतालों की मनमानी को बंद किया जाये साथ ही मरीजों के अधिकार भी लागू हों।

Satyagraha Of Patients Against Delhis Hospitals :

लोगों ने शवयात्रा निकालने के बाद स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन से मुलाकात भी की। लोगों ने मंत्री से अस्पतालों के लिए दिशा-निर्देश जारी करने की अपील की है। लोगों की मांग है कि अस्पतालों में मरीजों के लिए अधिकार चार्टर को तुरंत लागू किया जाये साथ ही निजी अस्पतालों द्वारा मुनाफाखोरी को नियंत्रित करने के लिए मसौदा सलाहकार का कार्यान्वयन किया जाये। यही नही लोगों ने इसके साथ साथ दिल्ली स्वास्थ्य विधेयक के प्रारूप में स्वास्थ्य अधिकारों और मरीजों के अधिकार समूहों का समावेश करने की भी मांग की है।

मरीजों के अधिकारों के लिए निकाले गये इस सत्याग्रह में लगभग 100 मरीज शामिल हुए जबकि यह कार्यक्रम हेल्थ वॉच फोरम यूपी, महिला प्रगति मंच, जन स्वास्थ्य अभियान, अखिल भारतीय रोगी अधिकार समूह, पीपल फॉर बेटर ट्रीटमेंट, सीजीएएच, मरीज अधिकार समूह, सेव मी संस्थाओं द्वारा आयोजित किया गया था।

नई दिल्ली। दिल्ली में अस्पतालों द्वारा की जा रही मनमानी के चलते मरीजों में अस्पतालों के प्रति खासा नाराजगी देखने को मिल रही हैं। इसी के चलते मरीजों व स्थानीय नागरिकों ने दिल्ली मे सत्याग्रह किया और राजघाट से लेकर दिल्ली सचिवालय तक शवयात्रा भी निकाली। मरीजो की मांग है कि दिल्ली के निजी अस्पतालों की मनमानी को बंद किया जाये साथ ही मरीजों के अधिकार भी लागू हों। लोगों ने शवयात्रा निकालने के बाद स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन से मुलाकात भी की। लोगों ने मंत्री से अस्पतालों के लिए दिशा-निर्देश जारी करने की अपील की है। लोगों की मांग है कि अस्पतालों में मरीजों के लिए अधिकार चार्टर को तुरंत लागू किया जाये साथ ही निजी अस्पतालों द्वारा मुनाफाखोरी को नियंत्रित करने के लिए मसौदा सलाहकार का कार्यान्वयन किया जाये। यही नही लोगों ने इसके साथ साथ दिल्ली स्वास्थ्य विधेयक के प्रारूप में स्वास्थ्य अधिकारों और मरीजों के अधिकार समूहों का समावेश करने की भी मांग की है। मरीजों के अधिकारों के लिए निकाले गये इस सत्याग्रह में लगभग 100 मरीज शामिल हुए जबकि यह कार्यक्रम हेल्थ वॉच फोरम यूपी, महिला प्रगति मंच, जन स्वास्थ्य अभियान, अखिल भारतीय रोगी अधिकार समूह, पीपल फॉर बेटर ट्रीटमेंट, सीजीएएच, मरीज अधिकार समूह, सेव मी संस्थाओं द्वारा आयोजित किया गया था।