सऊदी अरामको बनी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी, देखें पूरी लिस्ट

सऊदी अरामको बनी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी, देखें पूरी लिस्ट
सऊदी अरामको बनी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी, देखें पूरी लिस्ट

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी सऊदी अरामको ने इतिहास रच दिया है। रियाद शेयर बाजार में सऊदी अरामको के शेयर आईपीओ की लिस्टिंग कीमत से 10 फीसदी ऊपर तक चले गए। इसी के साथ यह दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी बन गई है और इस मामले में उसने ऐपल और माइक्रोसॉफ्ट जैसे दिग्गज कंपनियों को भी पीछे छोड़ दिया है।

Saudi Aramco Shares 10 Percent Premium Issue Price Most Valuable Company :

बता दें कि बुधवार को सऊदी अरामको के शेयर बाजार में उतरते ही थोड़ी देर में प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) की लिस्टिंग कीमत से 10 फीसदी ज्यादा कीमत पर पहुंच गए। इसके शेयर 32 रियाल पर लिस्ट हुए थे, लेकिन कुछ ही देर में शेयर कीमत 35.2 रियाल पर पहुंच गया।

ऐसे में अब सऊदी अरब की इस दिग्गज सरकारी कंपनी का वैल्यूएशन 1.88 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। इस तरह यह दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली लिस्टेड कंपनी बन गई है। हालांकि इसमें कारोबार के लिए उपलब्ध शेयरों का हिस्सा महज 1.5 फीसदी है।

इस आईपीओ से अरामको ने रिकॉर्ड 25.6 अरब डॉलर की राशि जुटाई है। वहीं सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस यह चाहते थे कि कंपनी को करीब 2 ट्रिलियन डॉलर का वैल्यूएशन मिले और यदि गुरुवार को भी इसके शेयर 10 फीसदी चढ़ गए तो वैल्यूएशन इस लेवल पर पहुंच सकता है।

बात करे अमेरिका की दिग्गज कंपनी एपल की तो बाजार पूंजीकरण 1.2 ट्रिलियन डॉलर और एक्सन मोबिल का बाजार पूंजीकरण 300 अरब डॉलर है।

भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस है जिसका बाजार पूंजीकरण करीब 9.90 ट्रिलियन (लाख करोड़) रुपये है, इस हिसाब से देखें तो अरामको रिलायंस से 13 गुना बड़ी कंपनी है जिसका वैल्यूएशन अगर रुपये में आंकें तो करीब 133 लाख करोड़ रुपये होता है।

अरामको का 1.88 लाख करोड़ डॉलर का वैल्यूएशन इस हिसाब से हैरान कर देने वाला आंकड़ा है जो भारत का कुल जीडीपी करीब 2.6 लाख करोड़ डॉलर का है, यानी इसका वैल्यूएशन भारत के कुल जीडीपी के 72 फीसदी के आसपास है।

अरामको के द्वारा दुनिया के करीब 10 फीसदी कच्चे तेल का उत्पादन होता है और यह साल 2018 में दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी रही है।

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी सऊदी अरामको ने इतिहास रच दिया है। रियाद शेयर बाजार में सऊदी अरामको के शेयर आईपीओ की लिस्टिंग कीमत से 10 फीसदी ऊपर तक चले गए। इसी के साथ यह दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी बन गई है और इस मामले में उसने ऐपल और माइक्रोसॉफ्ट जैसे दिग्गज कंपनियों को भी पीछे छोड़ दिया है। बता दें कि बुधवार को सऊदी अरामको के शेयर बाजार में उतरते ही थोड़ी देर में प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) की लिस्टिंग कीमत से 10 फीसदी ज्यादा कीमत पर पहुंच गए। इसके शेयर 32 रियाल पर लिस्ट हुए थे, लेकिन कुछ ही देर में शेयर कीमत 35.2 रियाल पर पहुंच गया। ऐसे में अब सऊदी अरब की इस दिग्गज सरकारी कंपनी का वैल्यूएशन 1.88 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। इस तरह यह दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली लिस्टेड कंपनी बन गई है। हालांकि इसमें कारोबार के लिए उपलब्ध शेयरों का हिस्सा महज 1.5 फीसदी है। इस आईपीओ से अरामको ने रिकॉर्ड 25.6 अरब डॉलर की राशि जुटाई है। वहीं सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस यह चाहते थे कि कंपनी को करीब 2 ट्रिलियन डॉलर का वैल्यूएशन मिले और यदि गुरुवार को भी इसके शेयर 10 फीसदी चढ़ गए तो वैल्यूएशन इस लेवल पर पहुंच सकता है। बात करे अमेरिका की दिग्गज कंपनी एपल की तो बाजार पूंजीकरण 1.2 ट्रिलियन डॉलर और एक्सन मोबिल का बाजार पूंजीकरण 300 अरब डॉलर है। भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस है जिसका बाजार पूंजीकरण करीब 9.90 ट्रिलियन (लाख करोड़) रुपये है, इस हिसाब से देखें तो अरामको रिलायंस से 13 गुना बड़ी कंपनी है जिसका वैल्यूएशन अगर रुपये में आंकें तो करीब 133 लाख करोड़ रुपये होता है। अरामको का 1.88 लाख करोड़ डॉलर का वैल्यूएशन इस हिसाब से हैरान कर देने वाला आंकड़ा है जो भारत का कुल जीडीपी करीब 2.6 लाख करोड़ डॉलर का है, यानी इसका वैल्यूएशन भारत के कुल जीडीपी के 72 फीसदी के आसपास है। अरामको के द्वारा दुनिया के करीब 10 फीसदी कच्चे तेल का उत्पादन होता है और यह साल 2018 में दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी रही है।