सऊदी से भागी 18 वर्षीय लड़की ने कहा, ‘वापस भेजा तो घरवाले मार डालेंगे’

सऊदी से भागी 18 वर्षीय लड़की ने कहा, 'वापस भेजा तो घरवाले मार डालेंगे'
सऊदी से भागी 18 वर्षीय लड़की ने कहा, 'वापस भेजा तो घरवाले मार डालेंगे'

बैंकॉक। बैंकॉक एयरपोर्ट पर एक 18 वर्षीय सऊदी अरब की युवती को रोक दिया गया और उसे वापस जाने को कहा तो सुनाने लगी घवालों की दिल दहला देने वाली दास्तान। सऊदी से आई रहाफ मोहम्मद एम अल्कुनून नाम की इस लड़की ने बताया कि वह भाग कर आई है और अब अपने देश नहीं जाना चाहती और अगर उसे थाई अधिकारी जबरन वापस भेजते हैं तो उसकी हत्या हो सकती है। जाने आखिर क्यों यह लड़की अपने परिवार वालों से इतना डर रही है कि वापस अपने देश ही नहीं जाना चाहती हैं….

Saudi Girl Desperate Bid To Flee From Country Says Fear For Death :

जाने रहाफ मोहम्मद एम अल्कुनून की पूरी दास्तान

अमीर परिवार से ताल्लुक रखनेवाली रहाफ के पिता बिजनसमैन हैं। लड़की का कहना है उसका परिवार उसके साथ बुरा व्यवहार करता हैं क्योंकि वह नास्तिक है। उसने बताया मैंने वहाँ से भगाने का फैसला परिवार की कठोर पाबंदी से बचने के लिये लिया।

संयुक्त राष्ट्र से रहाफ मांग रही शरण

रहाफ ने ट्वीट कर बताया, ‘मैं अकेले रह सकती हूं, स्वतंत्र और उन सब लोगों से दूर जो मेरी गरिमा का और मेरे औरत होने का सम्मान नहीं करते। मेरे साथ परिवार ने हिंसक व्यवहार किया और मेरे पास इसके पर्याप्त सबूत हैं।’ रहाफ ने कई लोगों से ट्वीट के जरिये मदद की गुजारिश की है। यही नहीं संयुक्त राष्ट्र से भी रहाफ ने अपने लिए शरण देने की मांग की है।

रहाफ ने बताया, ‘मैं नास्तिक हूं और मेरे पास परिवार से भागने के लिए यही अकेला रास्ता है। एक बार मैंने अपने बाल कटवा लिए थे, जिसके बाद मुझे 6 महीने तक घर में बंद करके परिवार ने रखा। जब मैं 16 साल की थी जब मैंने इस्लाम छोड़ दिया और मेरे परिवार को यह पता चला तो वो लोग मुझे मार डालेंगे। मेरी फैमिली बहुत सख्त है और मैं उस जीवन से छुटकारा चाहती हूं।’ आगे उसने बताया कि फोन के जरिए वह कई वकीलों के संपर्क में है, लेकिन सोमवार की सुबह तक उसे किसी से सकारात्मक जवाब नहीं मिला। कुवैत एयरलाइन के जरिए बैंकॉक पहुंचने के बाद उसका पासपोर्ट वापस ले लिया गया है।

, ‘

बैंकॉक। बैंकॉक एयरपोर्ट पर एक 18 वर्षीय सऊदी अरब की युवती को रोक दिया गया और उसे वापस जाने को कहा तो सुनाने लगी घवालों की दिल दहला देने वाली दास्तान। सऊदी से आई रहाफ मोहम्मद एम अल्कुनून नाम की इस लड़की ने बताया कि वह भाग कर आई है और अब अपने देश नहीं जाना चाहती और अगर उसे थाई अधिकारी जबरन वापस भेजते हैं तो उसकी हत्या हो सकती है। जाने आखिर क्यों यह लड़की अपने परिवार वालों से इतना डर रही है कि वापस अपने देश ही नहीं जाना चाहती हैं.... जाने रहाफ मोहम्मद एम अल्कुनून की पूरी दास्तान अमीर परिवार से ताल्लुक रखनेवाली रहाफ के पिता बिजनसमैन हैं। लड़की का कहना है उसका परिवार उसके साथ बुरा व्यवहार करता हैं क्योंकि वह नास्तिक है। उसने बताया मैंने वहाँ से भगाने का फैसला परिवार की कठोर पाबंदी से बचने के लिये लिया। संयुक्त राष्ट्र से रहाफ मांग रही शरण रहाफ ने ट्वीट कर बताया, 'मैं अकेले रह सकती हूं, स्वतंत्र और उन सब लोगों से दूर जो मेरी गरिमा का और मेरे औरत होने का सम्मान नहीं करते। मेरे साथ परिवार ने हिंसक व्यवहार किया और मेरे पास इसके पर्याप्त सबूत हैं।' रहाफ ने कई लोगों से ट्वीट के जरिये मदद की गुजारिश की है। यही नहीं संयुक्त राष्ट्र से भी रहाफ ने अपने लिए शरण देने की मांग की है। रहाफ ने बताया, 'मैं नास्तिक हूं और मेरे पास परिवार से भागने के लिए यही अकेला रास्ता है। एक बार मैंने अपने बाल कटवा लिए थे, जिसके बाद मुझे 6 महीने तक घर में बंद करके परिवार ने रखा। जब मैं 16 साल की थी जब मैंने इस्लाम छोड़ दिया और मेरे परिवार को यह पता चला तो वो लोग मुझे मार डालेंगे। मेरी फैमिली बहुत सख्त है और मैं उस जीवन से छुटकारा चाहती हूं।' आगे उसने बताया कि फोन के जरिए वह कई वकीलों के संपर्क में है, लेकिन सोमवार की सुबह तक उसे किसी से सकारात्मक जवाब नहीं मिला। कुवैत एयरलाइन के जरिए बैंकॉक पहुंचने के बाद उसका पासपोर्ट वापस ले लिया गया है। , '