सावरकर विवाद : गिरिराज सिंह ने कहा-जिन्ना को आदर्श मानती है कांग्रेस, शिवसेना बोली-सावरकर महान थे और रहेंगे

griraj singh
सावरकर विवाद : गिरिराज सिंह ने कहा-जिन्ना को आदर्श मानती है कांग्रेस, शिवसेना बोली-सावरकर महान थे और रहेंगे

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने शुक्रवार को ​कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जिन्ना को अपना आदर्श मानती है। वहीं, शिवसेना ने भी कांग्रेस पर सवाल उठाए हैं। शिवसेना ने कहा कि सावरकर ​महान थे और रहेंगे। दरअसल, कांग्रेस सेवादल की ओर से एक किताब का वितरण किया गया है, जिसको लेकर विवाद खड़ा हुआ है। यह किताब वीर सावरकर पर है और इस किताब का टाइटल है ‘वीर सावरकर कितने वीर’।

Savarkar Controversy Giriraj Singh Said Congress Considers Jinnah As The Ideal Shiv Sena Said Savarkar Was Great And Will Remain :

भोपाल में आयोजित दस दिवसीय ट्रेनिंग कैंप में इसे बांटा गया। इस किताब में महात्मा गांधी की हत्या, नाथूराम गोडसे और वीडी सावरकर का जिक्र किया गया है। किताब में दावा किया गया है कि नाथूराम गोडसे और वीर सावरकर के बीच समलैंगिक संबंध थे। किताब में यह भी दावा किया गया है कि सावरकर ने अपने अनुयायियों को अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने के लिए प्रेरित किया और 12 साल की उम्र में मस्जिद पर पत्थर फेंके थे।

गिरिराज सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस सावरकर को इसलिए गाली देती है क्योंकि वह जिन्ना को अपना आदर्श मानती है। उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब वह(कांग्रेस) किताब पढ़ेंगे कि जिन्ना कितने अच्छे नेता थे। वह जिन्ना को आदर्श मानते हैं और यही कारण है कि वह सावरकर को गाली देते हैं। कांग्रेस पर हमला करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, कांग्रेस का सिर्फ एक एजेंडा है, देश को कमजोर करना और पाकिस्तान की भाषा बोलना।

कांग्रेस उसी तरह का व्यवहार कर रही है जैसा कि 1947 से पहले जिन्ना किया करते थे। वहीं, इसको लेकर शिवसेना के प्रवक्ता ने संजय राउत ने सेवा दल की किताब को लेकर कहा कि ‘वीर सावरकर एक महान व्यक्ति थे और वह महान व्यक्ति ही रहेंगे। एक दल हमेशा उनके खिलाफ बोलता है। यह दिखाता है कि गंदगी उनके दिमाग में है चाहे वह कोई भी हों।’

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने शुक्रवार को ​कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जिन्ना को अपना आदर्श मानती है। वहीं, शिवसेना ने भी कांग्रेस पर सवाल उठाए हैं। शिवसेना ने कहा कि सावरकर ​महान थे और रहेंगे। दरअसल, कांग्रेस सेवादल की ओर से एक किताब का वितरण किया गया है, जिसको लेकर विवाद खड़ा हुआ है। यह किताब वीर सावरकर पर है और इस किताब का टाइटल है 'वीर सावरकर कितने वीर'। भोपाल में आयोजित दस दिवसीय ट्रेनिंग कैंप में इसे बांटा गया। इस किताब में महात्मा गांधी की हत्या, नाथूराम गोडसे और वीडी सावरकर का जिक्र किया गया है। किताब में दावा किया गया है कि नाथूराम गोडसे और वीर सावरकर के बीच समलैंगिक संबंध थे। किताब में यह भी दावा किया गया है कि सावरकर ने अपने अनुयायियों को अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने के लिए प्रेरित किया और 12 साल की उम्र में मस्जिद पर पत्थर फेंके थे। गिरिराज सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस सावरकर को इसलिए गाली देती है क्योंकि वह जिन्ना को अपना आदर्श मानती है। उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब वह(कांग्रेस) किताब पढ़ेंगे कि जिन्ना कितने अच्छे नेता थे। वह जिन्ना को आदर्श मानते हैं और यही कारण है कि वह सावरकर को गाली देते हैं। कांग्रेस पर हमला करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, कांग्रेस का सिर्फ एक एजेंडा है, देश को कमजोर करना और पाकिस्तान की भाषा बोलना। कांग्रेस उसी तरह का व्यवहार कर रही है जैसा कि 1947 से पहले जिन्ना किया करते थे। वहीं, इसको लेकर शिवसेना के प्रवक्ता ने संजय राउत ने सेवा दल की किताब को लेकर कहा कि 'वीर सावरकर एक महान व्यक्ति थे और वह महान व्यक्ति ही रहेंगे। एक दल हमेशा उनके खिलाफ बोलता है। यह दिखाता है कि गंदगी उनके दिमाग में है चाहे वह कोई भी हों।'