1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. सावन 2021: सावन माह में करें ये पूजा, नहीं भोगना पड़ेगा बुरे कर्मों का फल

सावन 2021: सावन माह में करें ये पूजा, नहीं भोगना पड़ेगा बुरे कर्मों का फल

सावन भगवान शिव जी का पवित्र महीना है। इस समय सावन का महीना चल रहा है। ऐसी प्राचीन मान्यता है कि इस माह में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए हर क्षण,हर घड़ी अनुकूल होती है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

सावन 2021: सावन भगवान शिव जी का पवित्र महीना है। इस समय सावन का महीना चल रहा है। ऐसी प्राचीन मान्यता है कि इस माह में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए हर क्षण,हर घड़ी अनुकूल होती है। भगवान महादेव की पूजा अर्चना के लिए इस माह में शुभ मुहूर्त और लाभकारी योग की उपलब्धता बनी रहती है। व्रत, उपवास रख कर भगवान शिव को प्रसन्न करने की पुरानी परंपरा की पीछे शिव महिमा ही है।

पढ़ें :- धर्म-अध्यात्म कार्तिक मास में इस तरह से करें पूजा

जीवन में चल रहे बुरे वक्त को समाप्त करने के लिए यह महीना बहुत ही उपयोगी है। जीवन में जब सफलता नहीं मिलती और संद्यर्षों से रातों दिन सामना करना पड़ता है तो भाग्य के खेल को जानने की इच्छा व्यक्ति के अंदर आ ही जाती है। कुंडली में जब ग्रहों की चाल अनुकूल न हो तो कुंडली के दोषों की ओर ध्यान जाता है।

आईये जानते हैं कि कैसे सावन माह में सर्प की पूजा करने से ​भगवान शिव को प्रसन्न कर जीवन के संद्यर्षों से मुक्ति मिल सकती है। हिंदू धर्म में नाग पंचमी का विशेष महत्व होता है। इस साल नाग पंचमी 13 अगस्त, दिन शुक्रवार को है। हिंदू धर्म में सर्प की पूजा की होती है।

कालसर्प दोष निवारण के लिए नागपंचमी के दिन को सर्वोत्तम माना गया है। क्योंकि इस दिन नागों की पूजा का विधान है। इसलिए इस दिन कालसर्प दोष वालों को चांदी का नाग-नागिन का जोड़ा भगवान शिव को अर्पित करने को कहा जाता है इससे कालसर्प दोष से मुक्ति मिलती है।

पढ़ें :- भगवान शिव चढ़ाएं ये चीजें होंगी सभी मनोकामनाएं पूर्ण
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...