Sawan Shivratri 2019: इस दिन पड़ रही सावन शिवरात्री, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

सावन में सोमवार को ही क्यों रखते हैं व्रत, जानें उपवास के फायदे
सावन में सोमवार को ही क्यों रखते हैं व्रत, जानें उपवास के फायदे

लखनऊ।17 जुलाई यानि कल से सावन का पावन महीना शुरू हो रहा है और ऐसे में शिव भक्तों को बता दें कि 30 जुलाई को सावन शिवरात्रि पड़ रही है। सावन का महीना जिसे श्रावण मास भी कहा जाता है इसका हिंदू धर्म में खास महत्व होता है। इस पवित्र महीने में पड़ने वाले चार सोमवार और सावन शिवरात्रि दोनों ही शिवभक्तों के लिए काफी अहम दिन होता हैं। मान्यता है कि सावन के सोमवार के व्रत और शिवरात्रि की पूजा करने से शिवभक्तों की हर मनोकामना पूरी होती है। चलिए आज हम आपको सावन में शिवरात्रि की पूजा विधि, सावन शिवरात्रि का महत्व और शुभ मुहूर्त के बारे में बताते हैं….

Sawan Shivaratri 2019 Date Timing Shubh Muhurt Puja Vidhi :

सावन शिवरात्रि का शुभ मुहूर्त-

  • श्रावण मास 17 जुलाई से शुरू हो रहा है, इस महीने में पड़ने वाली शिवरात्रि को सावन शिवरात्रि कहा जाता है।
  • इस शिवरात्रि के मौके पर शिव बहुत जल्दी पसन्न होते हैं। इस बार सावन शिवरात्रि 30 जुलाई को है।
  • इस दिन शिवशंभू को जल चढ़ाने से वे जल्दी प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं।
  • सावन शिवरात्रि यानी 30 जुलाई को शिव पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 9:10 बजे से लेकर दोपहर 2:00 बजे तक होगा।

सावन शिवरात्रि पूजा विधि

  • शिवरात्रि के दिन सुबह जल्दी उठें और नहाधोकर खुद को स्वच्छ करें।
  • मंदिर में जाते समय जल, दूध, दही, शहद, घी, चीनी, इत्र, चंदन, केसर, भांग सभी को मिलकार एक बर्तन में साथ ले जाएं और शिवलिंग का अभिषेक करें।

भगवान शिव को चढ़ाएं ये भोग

  • शिव को गेंहूं से बनी चीजें अर्पित करने से आप उन्हें जल्दी प्रसन्न कर सकते हैं।
  • एश्वर्य पाने के लिए शिव को मूंग का भोग लगाया जाना चाहिए।
  • मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए शिव को चने की दाल का भोग लगाया जाना चाहिए।
  • शिव को तिल चढ़ाने से पापों का नाश होता है।
लखनऊ।17 जुलाई यानि कल से सावन का पावन महीना शुरू हो रहा है और ऐसे में शिव भक्तों को बता दें कि 30 जुलाई को सावन शिवरात्रि पड़ रही है। सावन का महीना जिसे श्रावण मास भी कहा जाता है इसका हिंदू धर्म में खास महत्व होता है। इस पवित्र महीने में पड़ने वाले चार सोमवार और सावन शिवरात्रि दोनों ही शिवभक्तों के लिए काफी अहम दिन होता हैं। मान्यता है कि सावन के सोमवार के व्रत और शिवरात्रि की पूजा करने से शिवभक्तों की हर मनोकामना पूरी होती है। चलिए आज हम आपको सावन में शिवरात्रि की पूजा विधि, सावन शिवरात्रि का महत्व और शुभ मुहूर्त के बारे में बताते हैं.... सावन शिवरात्रि का शुभ मुहूर्त-
  • श्रावण मास 17 जुलाई से शुरू हो रहा है, इस महीने में पड़ने वाली शिवरात्रि को सावन शिवरात्रि कहा जाता है।
  • इस शिवरात्रि के मौके पर शिव बहुत जल्दी पसन्न होते हैं। इस बार सावन शिवरात्रि 30 जुलाई को है।
  • इस दिन शिवशंभू को जल चढ़ाने से वे जल्दी प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं।
  • सावन शिवरात्रि यानी 30 जुलाई को शिव पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 9:10 बजे से लेकर दोपहर 2:00 बजे तक होगा।
सावन शिवरात्रि पूजा विधि
  • शिवरात्रि के दिन सुबह जल्दी उठें और नहाधोकर खुद को स्वच्छ करें।
  • मंदिर में जाते समय जल, दूध, दही, शहद, घी, चीनी, इत्र, चंदन, केसर, भांग सभी को मिलकार एक बर्तन में साथ ले जाएं और शिवलिंग का अभिषेक करें।
भगवान शिव को चढ़ाएं ये भोग
  • शिव को गेंहूं से बनी चीजें अर्पित करने से आप उन्हें जल्दी प्रसन्न कर सकते हैं।
  • एश्वर्य पाने के लिए शिव को मूंग का भोग लगाया जाना चाहिए।
  • मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए शिव को चने की दाल का भोग लगाया जाना चाहिए।
  • शिव को तिल चढ़ाने से पापों का नाश होता है।