कल है सावन का पहला सोमवार, जानिए भगवान शिव को प्रसन्न करने के उपाय

Sawan 2018, सावन, सावन 2018
आज है सावन का अंतिम सोमवार, भोलेनाथ को ऐसे करें प्रसन्न

नई दिल्ली। हिंदू धर्म में सावन का विशेष महत्व होता है। इस बार सावन महीने की शुरूआत शनिवार 28 जुलाई से हुई जोकि 26 अगस्त को खत्म होगा वहीं कल सावन का पहला सोमवार है। 28 या 29 दिनों तक चलने वाला सावन का महीना इस बार 30 दिन का होगा। शिव भक्तों के लिए यह महीना बहुत खास होता है और इस महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भक्त उनकी सच्चे मन से पूजा अर्चना करते हैं। आइये जानते हैं सावन के महीने में भगवान शिव को कैसे प्रसन्न करें।

Sawan Special 2018 :

सावन में इन चीजों को शिवलिंग पर चढ़ाएं

सावन के महीने में शिवलिंग पर बेल के पत्ते चढ़ाने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। इसके अलावा फल-फूल, भांग, दूध, जल, चीनी, घी, शहद, पंचामृत, कलावा, वस्त्र यज्ञोपवि, चन्दन, रोली, चावल, फूल, बिल्ब पत्र, दूर्वा, आक, धतूरा कमलगट्टा, पान, सुपारी, लौंग, इलायची, पंचमेवा, धूप, दीप और दक्षिणा कपूर से आरती करनी चाहिए। कहा जाता है कि सावन में शिव की पूजा में इन चीजों को चढ़ाया जाना आवश्यक होता है।

सावन में न करें ये काम

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सावन में हरी पत्तेदार सब्जियां बिल्कुल नहीं खानी चाहिए। दरअसल ये वात को बढ़ाती हैं। इसके अलावा मानसून के दिनों में इनमें बैक्टेरिया और कीड़े भी देखे जा सकते हैं। इसलिए सावन में हरी पत्तेदार सब्जियां खाने की मनाही है।
  • सावन के महीने में बैंगन नहीं खाया जाता। ऐसा माना जाता है कि बैंगन अशुद्ध है। इसके अलावा कार्तिक में भी बैंगन नहीं खाया जाता। अगर दूसरा पक्ष देखा जाए तो बारिश के दौरान बैंगन में कीड़े ज्यादा लग जाते हैं जो नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • सावन के दौरान दूध और डेयरी प्रॉडक्ट जैसे दूध, दही पनीर, कच्चा दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। ये भी कहा जाता है कि सावन में कढ़ी नहीं खानी चाहिए। ये चीजें वात दोष बढ़ा देते हैं जिससे सेहत से जुड़ी कई समस्याएं हो सकता हैं। इन सभी चीजों को भगवान को तो अर्पित करनी चाहिए लेकिन इनका सेवन नहीं करना चाहिए।
नई दिल्ली। हिंदू धर्म में सावन का विशेष महत्व होता है। इस बार सावन महीने की शुरूआत शनिवार 28 जुलाई से हुई जोकि 26 अगस्त को खत्म होगा वहीं कल सावन का पहला सोमवार है। 28 या 29 दिनों तक चलने वाला सावन का महीना इस बार 30 दिन का होगा। शिव भक्तों के लिए यह महीना बहुत खास होता है और इस महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भक्त उनकी सच्चे मन से पूजा अर्चना करते हैं। आइये जानते हैं सावन के महीने में भगवान शिव को कैसे प्रसन्न करें।सावन में इन चीजों को शिवलिंग पर चढ़ाएंसावन के महीने में शिवलिंग पर बेल के पत्ते चढ़ाने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। इसके अलावा फल-फूल, भांग, दूध, जल, चीनी, घी, शहद, पंचामृत, कलावा, वस्त्र यज्ञोपवि, चन्दन, रोली, चावल, फूल, बिल्ब पत्र, दूर्वा, आक, धतूरा कमलगट्टा, पान, सुपारी, लौंग, इलायची, पंचमेवा, धूप, दीप और दक्षिणा कपूर से आरती करनी चाहिए। कहा जाता है कि सावन में शिव की पूजा में इन चीजों को चढ़ाया जाना आवश्यक होता है।सावन में न करें ये काम
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सावन में हरी पत्तेदार सब्जियां बिल्कुल नहीं खानी चाहिए। दरअसल ये वात को बढ़ाती हैं। इसके अलावा मानसून के दिनों में इनमें बैक्टेरिया और कीड़े भी देखे जा सकते हैं। इसलिए सावन में हरी पत्तेदार सब्जियां खाने की मनाही है।
  • सावन के महीने में बैंगन नहीं खाया जाता। ऐसा माना जाता है कि बैंगन अशुद्ध है। इसके अलावा कार्तिक में भी बैंगन नहीं खाया जाता। अगर दूसरा पक्ष देखा जाए तो बारिश के दौरान बैंगन में कीड़े ज्यादा लग जाते हैं जो नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • सावन के दौरान दूध और डेयरी प्रॉडक्ट जैसे दूध, दही पनीर, कच्चा दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। ये भी कहा जाता है कि सावन में कढ़ी नहीं खानी चाहिए। ये चीजें वात दोष बढ़ा देते हैं जिससे सेहत से जुड़ी कई समस्याएं हो सकता हैं। इन सभी चीजों को भगवान को तो अर्पित करनी चाहिए लेकिन इनका सेवन नहीं करना चाहिए।