आप भी हैं BSNL उपभोक्ता? आपका फोन करेगा ATM का काम

नई दिल्ली। अगर आप BSNL उपभोक्ता हैं तो आपके लिए ये खबर बड़े काम की है। नोटबंदी के बाद कैशलेस अर्थव्यवस्था को देखते हुए SBI और BSNL ने मिलकर मोबी कैश बटुआ विकसित किया है। इससे उपभोक्ता का खाता नंबर, मोबाइल नंबर और आवाज कनैक्ट होगी जिससे अब बाजार में खरीददारी और भुगतान मोबी कैश बटुए से होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में कैशलेस पर जोर देने के लिए कारगर पहल की जा रही है।



Sbi And Bsnl Initiatives Make Payment And Purchase Using Moby Cash Wallet :

नोटबंदी के बाद सरकार कैशलेस भुगतान पर काफी ज़ोर दे रही है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में स्मार्टफोन और अशिक्षा की वजह से इस राह में दिक्कत हो रही है। ग्रामीण इलाकों में काफी लोग स्मार्ट फोन से अभी भी अंजान हैं। इसके साथ अभी गाँव में 2G सुविधा ही उपलब्ध है। इन सब बातों को ध्यान में रख कर सरकार के निर्देश पर बीएसएनएल और एसबीआई ने मोबी कैश बटुआ तैयार किया है।




यह कोई मोबाइल ऐप नहीं है बल्कि एक सुविधा है जिसके तहत उपभोक्ता के मोबाइल नंबर को बैंक खाते से जोड़ दिया गया है। इसमे लोग बैंक में जाकर अपने खाते से मोबाइल नंबर और अपनी आवाज का नमुना जुडवाना होगा। भुगतान के लिए उपभोक्ता बीएसएनएल की ओर से दिए गए नंबर पर कॉल करेंगे और कॉल के दौरान उपभोक्ता दुकानदार का एकाउंट नंबर और भुगतान की राशि बताएंगे। इसके बाद सिस्टम आवाज को पहचानकर भुगतान कर देगा। माना जा रहा है कि 25 दिसंबर से देश में यह सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी।

नई दिल्ली। अगर आप BSNL उपभोक्ता हैं तो आपके लिए ये खबर बड़े काम की है। नोटबंदी के बाद कैशलेस अर्थव्यवस्था को देखते हुए SBI और BSNL ने मिलकर मोबी कैश बटुआ विकसित किया है। इससे उपभोक्ता का खाता नंबर, मोबाइल नंबर और आवाज कनैक्ट होगी जिससे अब बाजार में खरीददारी और भुगतान मोबी कैश बटुए से होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में कैशलेस पर जोर देने के लिए कारगर पहल की जा रही है। नोटबंदी के बाद सरकार कैशलेस भुगतान पर काफी ज़ोर दे रही है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में स्मार्टफोन और अशिक्षा की वजह से इस राह में दिक्कत हो रही है। ग्रामीण इलाकों में काफी लोग स्मार्ट फोन से अभी भी अंजान हैं। इसके साथ अभी गाँव में 2G सुविधा ही उपलब्ध है। इन सब बातों को ध्यान में रख कर सरकार के निर्देश पर बीएसएनएल और एसबीआई ने मोबी कैश बटुआ तैयार किया है। यह कोई मोबाइल ऐप नहीं है बल्कि एक सुविधा है जिसके तहत उपभोक्ता के मोबाइल नंबर को बैंक खाते से जोड़ दिया गया है। इसमे लोग बैंक में जाकर अपने खाते से मोबाइल नंबर और अपनी आवाज का नमुना जुडवाना होगा। भुगतान के लिए उपभोक्ता बीएसएनएल की ओर से दिए गए नंबर पर कॉल करेंगे और कॉल के दौरान उपभोक्ता दुकानदार का एकाउंट नंबर और भुगतान की राशि बताएंगे। इसके बाद सिस्टम आवाज को पहचानकर भुगतान कर देगा। माना जा रहा है कि 25 दिसंबर से देश में यह सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी।