मिनिमम बैलेंस को लेकर SBI देगा बड़ी खुशखबरी

SBI

नई दिल्ली। नए साल पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया(SBI) अपने ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस से राहत की खुशखबरी दे सकता है। एसबीआई अब आपको जो बड़ा तोहफा देने जा रही है उसकी बदौलत आप न सिर्फ बैंक में कम पैसे रख सकते हैं बल्कि चार्ज देने से भी बच सकते हैं।

Sbi Can Be Reduced Condition Of Minimum Balance :

केंद्र सरकार के दवाब और ग्राहकों के असंतोष के बाद एसबीआई बचत खातों के लिए न्यूनतम जमा राशि रखने की शर्त को हटाने पर विचार कर रही है। खबरें आ रहीं हैं कि एसबीआई मिनिमम बैलेंस की सीमा 3000 से घटाकर 1000 रुपये करने की तैयारी में है। जल्द ही यह बात साफ हो जाएगी कि बैंक में मिनिमम राशि कितनी रख सकते हैं।

बता दें कि बैंक एक और सुविधा देने पर विचार कर रही है वो है कि, मिनिमम बैलेंस को मासिक स्तर पर नहीं बल्किि त्रैमासिक स्तर पर रखने का नियम तय कर सकता है ये नियम आने के बाद आपके अकांउट में हर महीने 1000 रुपये होने जरूरी नहीं होंगे। दरअसल त्रैमासिक अथवा क्वार्टर्ली मिनिमम बैलेंस की शर्त होने का मतलब है कि आपको तीन महीने में कम से कम इतने पैसे खाते में रखने पड़ते हैं। जिनका औसत मिनिमम बैलेंस की सीमा को पूरा कर सकेगा।

नई दिल्ली। नए साल पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया(SBI) अपने ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस से राहत की खुशखबरी दे सकता है। एसबीआई अब आपको जो बड़ा तोहफा देने जा रही है उसकी बदौलत आप न सिर्फ बैंक में कम पैसे रख सकते हैं बल्कि चार्ज देने से भी बच सकते हैं।केंद्र सरकार के दवाब और ग्राहकों के असंतोष के बाद एसबीआई बचत खातों के लिए न्यूनतम जमा राशि रखने की शर्त को हटाने पर विचार कर रही है। खबरें आ रहीं हैं कि एसबीआई मिनिमम बैलेंस की सीमा 3000 से घटाकर 1000 रुपये करने की तैयारी में है। जल्द ही यह बात साफ हो जाएगी कि बैंक में मिनिमम राशि कितनी रख सकते हैं।बता दें कि बैंक एक और सुविधा देने पर विचार कर रही है वो है कि, मिनिमम बैलेंस को मासिक स्तर पर नहीं बल्किि त्रैमासिक स्तर पर रखने का नियम तय कर सकता है ये नियम आने के बाद आपके अकांउट में हर महीने 1000 रुपये होने जरूरी नहीं होंगे। दरअसल त्रैमासिक अथवा क्वार्टर्ली मिनिमम बैलेंस की शर्त होने का मतलब है कि आपको तीन महीने में कम से कम इतने पैसे खाते में रखने पड़ते हैं। जिनका औसत मिनिमम बैलेंस की सीमा को पूरा कर सकेगा।