एसबीआई ग्राहकों के लिए बुरी खबर, मिनिमम बैलेंस न रखना पड़ेगा भारी

एसबीआई ,SBI ,
SBI ने ATM से पैसे निकालने की घटाई लिमिट, 1 दिन में निकाल सकेंगे मात्र इतने कैश

Sbi Minimum Balance Rules With Penalty For Insufficient Balance Continues

नई दिल्ली। जहां बीते दिनों खबरें आ रही थी कि मिनिमम बैलेंस से राहत मिलने वाली है वहीं अब SBI के ग्राहकों को बड़ा झटका लग सकता है। एसबीआई के ग्राहकों को तय मिनिमम बैलेंस न रखने पर चार्ज देना पड़ सकता है। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई के कस्टमर्स के लिए पहले की तरह अभी भी मिनिमम बैलेंस के जरूरी नियम लागू रहेंगे। बता दें कि यह नियम अलग-अलग तरह की ब्रांचों में अलग-अलग तरीके से होगा।

बता दें कि मिनिमम बैलेंस की शर्तों के मामले में एसबीआई ने अपनी ब्रांचों को चार तरह से बांटा है- मेट्रो, रूरल, अर्बन और सेमी-अर्बन। अर्बन या मेट्रो ब्रांचों के कस्टमर्स पर पहले की तरह 3000 रुपए मिनिमम औसत बैलेंस का नियम लागू रहेगा।

इससे पहले उम्मीीद की जा रही थी कि सरकार मासिक औसत बैलेंस की जरूरत को तिमाही औसत बैलेंस में बदलने की तैयारी में भी है। हालांकि, अभी इस मामले में कोई फैसला नहीं लिया गया है। बता दें कि एसबीआई में मिनिमम बैलेंस की सीमा दूसरे पब्लिक सेक्टर बैंकों से अधिक और बड़े प्राइवेट बैंकों से कम है। आईसीआईसीआई, एचडीएफसी, कोटक और एक्सिस बैंक के मेट्रो अकाउंट्स में मिनिमम बैलेंस सीमा 10 हजार रुपये है।

मेट्रो शहरों में 3000, सेमी-अर्बन में 2000 और ग्रामीण क्षेत्रों में 1000 रुपये है। जबकि नाबालिग और पेंशनर्स के लिए भी इस सीमा को कम कर दिया गया था। पैनल्टी को 25-100 रुपये से घटाकर 20-50 रुपये के रेंज में लाया गया था। बता दें कि एसबीआई ने अप्रैल और नवंबर 2017 के बीच मिनिमम बैलेंस मेनटेन नहीं करने की वजह से ग्राहकों से 1,772 करोड़ रुपये जुर्मना वसूला।

नई दिल्ली। जहां बीते दिनों खबरें आ रही थी कि मिनिमम बैलेंस से राहत मिलने वाली है वहीं अब SBI के ग्राहकों को बड़ा झटका लग सकता है। एसबीआई के ग्राहकों को तय मिनिमम बैलेंस न रखने पर चार्ज देना पड़ सकता है। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई के कस्टमर्स के लिए पहले की तरह अभी भी मिनिमम बैलेंस के जरूरी नियम लागू रहेंगे। बता दें कि यह नियम अलग-अलग तरह की ब्रांचों में अलग-अलग तरीके से होगा। बता…