SBI के कर्मचारियों को झटका, नोटबंदी में ओवरटाइम का पैसा वापस मांग रही बैंक

SBI , बैंक , एसबीआई
SBI के कर्मचारियों को झटका, नोटबंदी में ओवरटाइम का पैसा वापस मांग रही बैंक

Sbi Wants 70000 Employees To Return Money Paid For Demonetisation Overtime

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया(SBI) ने 70 हज़ार कर्मचारियों और अधिकारियों से नोटबंदी के दौरान करवाए गए ओवर टाइम के एवज में किए गए भुगतान को वापस करने के लिए कहा है। दरअसल कर्मचारियों, अधिकारियों को ओवर टाइम के लिए अतिरिक्त भुगतान भी किया गया, लेकिन अब भारतीय स्टेट बैंक प्रबंधन ने उन सभी कर्मचारियों को मिला भुगतान वापस करने को कहा है। ये 70,000 कर्मचारी उन पांच सहायक बैंकों के हैं जिनका विलय अब एसबीआई में हो चुका है। हालांकि, एसबीआई का कहना है कि उसने जब ओवरटाइम पेमेंट का फैसला लिया था तब उन बैंकों का विलय नहीं हुआ था।

साल 2016 के नवंबर से लागू हुई थी नोटबंदी

बता दें कि 8 नवंबर 2016 को लागू हुई नोटबंदी के दौरान लोगों को पुराने नोट जमा कराने और नए नोट प्राप्त करने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी थी। ऐसे में बैंक कर्मियों को भी लोगों की समस्या को हल करने के लिए अतिरिक्त समय देना पड़ा था।

एसबीआई के एसोसिएट बैंक स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ ट्रावणकोर और स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर और जयपुर का 1 अप्रैल, 2017 को एसबीआई में विलय कर दिया गया। इसके बाद ओवर टाइम के लिए किया गया भुगतान एसोसिएट बैंक के 70 हजार कर्मियों को भी कर दिया गया। इसको लेकर एसबीआई ने एसोसिएट बैंक कर्मचारियों से अतिरिक्त भुगतान को वापस करने के लिए कहा है।

एसबीआई की ओर से भेजे गए पत्र में कहा गया है कि सिर्फ अपने बैंक के कर्मचारियों को ही ओवर टाइम के लिए पैसा दिया जाए। यह पैसा एसोसिएट बैंक के कर्मचारियों को नहीं दिया जाए। पत्र में कहा गया है कि यह भुगतान केवल उन कर्मचारियों के लिए था, जो उस समय एसबीआई की शाखाओं में काम करते थे। उस समय एसोसिएट बैंकों का विलय एसबीआई में नहीं हुआ था, इसलिए उनके बैंकों के कर्मचारी एसबीआई के कर्मचारी नहीं माने जाएंगे।

गौरतलब है कि नोटबंदी के दौरान बैंकों के बाहर लंबी-लंबी लाइनें लगने से लोगों को काफी मुश्किल हुई थी। इस समय बैंकों के लाखों कर्मचारियों ने हर दिन 3 से 8 घंटे तक ज्यादा काम किया। इस ओवरटाइम के लिए अधिकारियों को 30 हजार और अन्य कर्मचारियों को 17 हजार रुपये का भुगतान किया गया था जिसे अब वापस मांगा जा रहा है।

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया(SBI) ने 70 हज़ार कर्मचारियों और अधिकारियों से नोटबंदी के दौरान करवाए गए ओवर टाइम के एवज में किए गए भुगतान को वापस करने के लिए कहा है। दरअसल कर्मचारियों, अधिकारियों को ओवर टाइम के लिए अतिरिक्त भुगतान भी किया गया, लेकिन अब भारतीय स्टेट बैंक प्रबंधन ने उन सभी कर्मचारियों को मिला भुगतान वापस करने को कहा है। ये 70,000 कर्मचारी उन पांच सहायक बैंकों के हैं जिनका विलय…