जल्द खत्म हो जाएंगे एसबीआई डेबिट कार्ड, डिजिटल भुगतान प्रणाली को मिलेगा बढ़ावा

जल्द खत्म हो जाएंगे एसबीआई डेबिट कार्ड, डिजिटल भुगतान प्रणाली को मिलेगा बढ़ावा
जल्द खत्म हो जाएंगे एसबीआई डेबिट कार्ड, डिजिटल भुगतान प्रणाली को मिलेगा बढ़ावा

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई ने जल्द डेबिट कार्ड को खत्म करने का लक्ष्य रखा है। दरअसल एसबीआई डेबिट कार्ड की जगह डिजिटल भुगतान प्रणाली को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रहा है। बैंक की तरफ से इस योजना पर तेजी से काम किया जा रहा है और एसबीआई का लक्ष्य है कि 18 महीने बाद सभी ATM कार्ड को बंद कर दिया जाए।

Sbi Wants To Dissolve Debit Card Will Boost Digital Payment System :

बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने एक कार्यक्रम में कहा कि हमारी योजना डेबिट कार्ड को प्रचलन से बाहर करने की है। हमें पूरा भरोसा है कि हम यह कर सकते हैं। कुमार ने कहा कि देश में 90 करोड़ डेबिट कार्ड और तीन करोड़ क्रेडिट कार्ड हैं।

उन्होंने कहा कि डिजिटल समाधान पेश करने वाले उसके योनो एप की डेबिट कार्ड मुक्त देश बनाने में अहम भूमिका होगी। योनो प्लेटफार्म के जरिये एटीएम मशीनों से नकदी की निकासी या दुकानों से सामान की खरीदी की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि बैंक पहले ही 68,000 योनो कैशप्वाइंट की स्थापना कर चुका है और अगले 18 माह में इसे 10 लाख करने की योजना है। मालूम हो कि केंद्र सरकार भी डिजिटल भुगतान प्रणाली को प्रोत्साहित करती रही है और इसके लिए सरकार की ओर से कई स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम चलते हैं।

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई ने जल्द डेबिट कार्ड को खत्म करने का लक्ष्य रखा है। दरअसल एसबीआई डेबिट कार्ड की जगह डिजिटल भुगतान प्रणाली को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रहा है। बैंक की तरफ से इस योजना पर तेजी से काम किया जा रहा है और एसबीआई का लक्ष्य है कि 18 महीने बाद सभी ATM कार्ड को बंद कर दिया जाए। बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने एक कार्यक्रम में कहा कि हमारी योजना डेबिट कार्ड को प्रचलन से बाहर करने की है। हमें पूरा भरोसा है कि हम यह कर सकते हैं। कुमार ने कहा कि देश में 90 करोड़ डेबिट कार्ड और तीन करोड़ क्रेडिट कार्ड हैं। उन्होंने कहा कि डिजिटल समाधान पेश करने वाले उसके योनो एप की डेबिट कार्ड मुक्त देश बनाने में अहम भूमिका होगी। योनो प्लेटफार्म के जरिये एटीएम मशीनों से नकदी की निकासी या दुकानों से सामान की खरीदी की जा सकती है। उन्होंने कहा कि बैंक पहले ही 68,000 योनो कैशप्वाइंट की स्थापना कर चुका है और अगले 18 माह में इसे 10 लाख करने की योजना है। मालूम हो कि केंद्र सरकार भी डिजिटल भुगतान प्रणाली को प्रोत्साहित करती रही है और इसके लिए सरकार की ओर से कई स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम चलते हैं।