आधार को लेकर SC ने सुनाया ये फैसला, जानें क्या हुआ बदलाव

आधार, आधार मोबाइल लिंक
आधार को लेकर SC ने सुनाया ये फैसला, जानें क्या हुआ बदलाव

नई दिल्ली। सर्वोच्च न्यायालय ने विभिन्न सेवाओं को आधार से जोड़ने की अंतिम तिथि आगे बढ़ा दी है। न्यायालय ने अपने मंगलवार को अपने आदेश में कहा कि जब तक वह बायोमेट्रिक पहचान योजना की संवैधानिक वैधता पर अपना निर्णय नहीं दे देता, तब तक उपभोक्ता विभिन्न सेवाओं को आधार से जोड़ सकते हैं।

Sc Extends March 31 Deadline For Aadhaar Linkages :

पहले सभी सरकारी सेवाओं और सर्विसेज का फायदा लेने के लिए 31 मार्च तक आधार कार्ड को इनसे लिंक कराने के लिए सरकार ने डेडलाइन दी थी। लिहाजा आज सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से आम जनता को काफी राहत मिलेगी। सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता में पांच जजों की की संवैधानिक बेंच ने कहा कि जब तक इस मामले पर फैसला नहीं आ जाता तब तक जरूरी नहीं होगा कि अलग-अलग सेवाओं के साथ आधार कार्ड को लिंक किया जाए. सरकार आधार लिंकिंग के लिए फिलहाल किसी को मजबूर नहीं कर सकती है।

ऐसे होगा आधार से मोबाइल नंबर लिंक-

मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने के लिए अब कस्टमर्स को टेलीकॉल कंपनियों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दूरसंचार विभाग के मुताबिक अब कस्टमर्स ओटोपी के माध्यम से घर बैठे ही अपने मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से लिंक करा सकेंगे। बता दें कि आधार की डेवलपर अथॉरिटी UIDAI ने एक टोल फ्री नंबर जारी किया है जिसपर कॉल कर आप मोबाइल नंबर आधार के साथ बड़े आराम से लिंक करा सकते हैं।

इस टोल फ्री नंबर पर कॉल करके आप आधार से जुड़ी जरूरी डीटेल्स अपने फोन पर दर्ज कर अपना मोबाइल नंबर आधार के साथ बड़े आराम से लिंक कर सकते हैं। जिस मोबाइल नंबर को आप आधार से लिंक कराना चाहते हैं, उससे टोल फ्री नंबर 14546 पर कॉल करें। इस नंबर पर कॉल करने पर आपसे आधार नंबर मांगा जायेगा, जिसे आप अपने आधार नंबर पर दर्ज करें।

आधार नंबर दर्ज करते ही आपके आधार रजिस्टर्ड नंबर पर वन टाइम पासवर्ड (OTP) आयेगा। जिसमें आपको ओटीपी दर्ज करना है, इसके बाद आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो जायेगा।

नई दिल्ली। सर्वोच्च न्यायालय ने विभिन्न सेवाओं को आधार से जोड़ने की अंतिम तिथि आगे बढ़ा दी है। न्यायालय ने अपने मंगलवार को अपने आदेश में कहा कि जब तक वह बायोमेट्रिक पहचान योजना की संवैधानिक वैधता पर अपना निर्णय नहीं दे देता, तब तक उपभोक्ता विभिन्न सेवाओं को आधार से जोड़ सकते हैं।पहले सभी सरकारी सेवाओं और सर्विसेज का फायदा लेने के लिए 31 मार्च तक आधार कार्ड को इनसे लिंक कराने के लिए सरकार ने डेडलाइन दी थी। लिहाजा आज सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से आम जनता को काफी राहत मिलेगी। सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता में पांच जजों की की संवैधानिक बेंच ने कहा कि जब तक इस मामले पर फैसला नहीं आ जाता तब तक जरूरी नहीं होगा कि अलग-अलग सेवाओं के साथ आधार कार्ड को लिंक किया जाए. सरकार आधार लिंकिंग के लिए फिलहाल किसी को मजबूर नहीं कर सकती है।ऐसे होगा आधार से मोबाइल नंबर लिंक-मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने के लिए अब कस्टमर्स को टेलीकॉल कंपनियों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दूरसंचार विभाग के मुताबिक अब कस्टमर्स ओटोपी के माध्यम से घर बैठे ही अपने मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से लिंक करा सकेंगे। बता दें कि आधार की डेवलपर अथॉरिटी UIDAI ने एक टोल फ्री नंबर जारी किया है जिसपर कॉल कर आप मोबाइल नंबर आधार के साथ बड़े आराम से लिंक करा सकते हैं।इस टोल फ्री नंबर पर कॉल करके आप आधार से जुड़ी जरूरी डीटेल्स अपने फोन पर दर्ज कर अपना मोबाइल नंबर आधार के साथ बड़े आराम से लिंक कर सकते हैं। जिस मोबाइल नंबर को आप आधार से लिंक कराना चाहते हैं, उससे टोल फ्री नंबर 14546 पर कॉल करें। इस नंबर पर कॉल करने पर आपसे आधार नंबर मांगा जायेगा, जिसे आप अपने आधार नंबर पर दर्ज करें।आधार नंबर दर्ज करते ही आपके आधार रजिस्टर्ड नंबर पर वन टाइम पासवर्ड (OTP) आयेगा। जिसमें आपको ओटीपी दर्ज करना है, इसके बाद आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो जायेगा।