1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. सीवरेज के काम में घोटाला: ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए जल निगम के अफसरों ने की नियमों की अनदेखी

सीवरेज के काम में घोटाला: ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए जल निगम के अफसरों ने की नियमों की अनदेखी

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ। बिजनौर में सीवरेज योजना में ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए जल निगम के अफसरों ने नियमों को दरकिनार कर दिया। अफसरों की मिलीभगत से सरकार को करोड़ों रुपयों को नुकसान हुआ है। अफसरों का यह कारनामा लेखा परीक्षा में सामने आए हैं।

इसके साथ ही बांदा के इंजीनियरिंग कालेज निर्माण में भी अफसरों और ठेकेदारों की मिलीभगत उजागर हुई। अफसरों ने ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए नियमों की अनदेखी की है। अफसरों की इस कारनामें से राज्य सरकार को करीब 8 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

जल निगम ने बिजनौर सीवरेज योजना के कार्यों के लिए टर्न के आधार पर 70.09 करोड़ की लागत पर अनुबंध किया। इस अनुबंध के निष्पादन में अनियमितताएं बरती गईं। काम के मदों में उच्तर दरों पर भुगतान कर ठेकेदारों को 4.05 करोड़ का अनुचित लाभ पहुंचाया गया। अधिकारियों के मिलीभगत से लकड़ी के काम (टिंबरिंग) के लिए उच्च दरों पर भुगतान किया गया।

इसी तरह बांदा में डॉ. भीमराव आंबेडकर इंजीनियरिंग कॉलेज के निर्माण में ठेकेदारों की दरों की लागत से 5.8 फीसदी नीचे की लागत पर कार्य आवंटित किया गया। यहीं नहीं, नई और पुरानी दरों के बीच के अंतर का भी ठेकेदार को भुगतान किया गया। इस तरह ठेकेदार को अनुचित लाभ पहुंचाकर प्रदेश सरकार को 4.09 करोड़ रुपये की हानि पहुंचाई गयी है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...