बरेली की इस महिला ने शहीदों के लिए बेंच दिए अपने कंगन, कही ये बात

baraily teacher
बरेली की इस महिला ने शहीदों के लिए बेंच दिए अपने कंगन, कही ये बात

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर के पुलवामा में हुई आतंकी घटना में शहीद हुए जवानों के बाद पूरे देश से मदद करने वाले लोग आगे आ रहे है। आम हो या खास, हर कोई अपने स्तर से मदद कर रहा है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के एक प्राइवेट स्कूल प्रिंसिपल ने अपने कंगन बेंचकर करीब 13 लाख रूपए शहीदों के परिवारों की मदद के लिए दिए हैं।

School Principal Donate 13 Lacs To Pulwama Attack Martyres :

बता दें कि किरण झागवाल ने पुलवामा आतंकी हमले में जान गंवाने वाले 40 सीआरपीएफ जवानों के परिवार की मदद के लिए 1,38,387 रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष में दान किए। उन्होने कहा कि पुलवामा हमले के बाद जब शहीदों के पार्थिव शरीर उनके परिजनों के पास पहुंचे और उन्होनें शहीदों की पत्नियों को रोते हुए टीवी पर देखा तो उन्हें बहुत दुख हुआ।

उन्होने बताया कि ये देखकर उन्होने सोंचा कि इन महिलाओं की मदद कैसे किया जाए। तब उन्होन फैसला किया कि वो अपने सभी जेवरात बेंचकर उनसे मिलने वाली रकम शहीदों के परिवारों को दान कर देंगी। इसीलिए उन्होने पुलवामा में शहीद जवानों के परिवार वालों के लिये ये रकम प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर किया। उन्होने कहा कि देश में 130 करोड़ आबादी वाला देश है। अगर सभी लोग एक रूपए भी दान करदे तो इन परिवारों की बहुत मदद हो जाएगी।

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर के पुलवामा में हुई आतंकी घटना में शहीद हुए जवानों के बाद पूरे देश से मदद करने वाले लोग आगे आ रहे है। आम हो या खास, हर कोई अपने स्तर से मदद कर रहा है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के एक प्राइवेट स्कूल प्रिंसिपल ने अपने कंगन बेंचकर करीब 13 लाख रूपए शहीदों के परिवारों की मदद के लिए दिए हैं। बता दें कि किरण झागवाल ने पुलवामा आतंकी हमले में जान गंवाने वाले 40 सीआरपीएफ जवानों के परिवार की मदद के लिए 1,38,387 रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष में दान किए। उन्होने कहा कि पुलवामा हमले के बाद जब शहीदों के पार्थिव शरीर उनके परिजनों के पास पहुंचे और उन्होनें शहीदों की पत्नियों को रोते हुए टीवी पर देखा तो उन्हें बहुत दुख हुआ। उन्होने बताया कि ये देखकर उन्होने सोंचा कि इन महिलाओं की मदद कैसे किया जाए। तब उन्होन फैसला किया कि वो अपने सभी जेवरात बेंचकर उनसे मिलने वाली रकम शहीदों के परिवारों को दान कर देंगी। इसीलिए उन्होने पुलवामा में शहीद जवानों के परिवार वालों के लिये ये रकम प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर किया। उन्होने कहा कि देश में 130 करोड़ आबादी वाला देश है। अगर सभी लोग एक रूपए भी दान करदे तो इन परिवारों की बहुत मदद हो जाएगी।