1. हिन्दी समाचार
  2. चीन में खुलने लगे स्कूल, स्पेन में बच्चों को मिली खेलने की आजादी, जाने दुनिया का हाल

चीन में खुलने लगे स्कूल, स्पेन में बच्चों को मिली खेलने की आजादी, जाने दुनिया का हाल

Schools Started Opening In China Children Got Freedom To Play In Spain Know The World

नई दिल्ली। दुनिया में सबसे पहले कोरोना वायरस का संक्रमण चीन में शुरू हुआ था, देखते ही देखते संक्रमण पूरी दुनिया में फैल गया वहीं चीन ने अपनी स्थिति में कंट्रोल कर लिया। भारत में 3 मई से लॉकडाउन खत्म होगा या नहीं? इस पर अभी सस्पेंस है और केंद्र सरकार राज्य सरकारों के साथ चर्चा में जुटी है। इस बीच चीन के दो शहरों में सोमवार को स्कूल खुल गए। करीब तीन महीने तक घर पर रहने के बाद शंघाई और बीजिंग में बच्चे कुछ एहतियातों के साथ स्कूल गए। उधर, यूरोप में भी कई देश लॉकडाउन में चरणबद्ध तरीके से ढील देने जा रहे हैं। स्पेन ने छह सप्ताह के बंद के बाद पहली बार बच्चों को बाहर जाकर खेलने की अनुमति दी है।

पढ़ें :- ये 3 काम करने से सदैव बनी रहती है मां लक्ष्मी की कृपा, नहीं होगी धन की कमी

बीजिंग में इस तरह स्कूल गए बच्चे
चीन के शिक्षा मंत्रालय ने कहा कि बीजिंग में स्कूल गेट पर हर बच्चे के शरीर का तापमान चेक किया जाता है। उन्हें ऐप पर ”ग्रीन” हेल्थ कोड भी दिखाना होता है। यह ऐप किसी व्यक्ति के संक्रमित होने की संभावना की गिनती करता है। सभी बच्चे मास्क लगाकर पहुंच रहे हैं। चीन मे पिछले साल के अंत में पहली बार कोरोना का केस आया, लेकिन अब वहां नए केस बेहद कम आ रहे हैं। चीन की सरकारी मीडिया ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण का केंद्र रहे वुहान के अस्पतालों में कोविड-19 का अब कोई मरीज नहीं है। वुहान में इस संक्रमण से करीब 3,900 लोगों की मौत हो चुकी है।

अमेरिका के कुछ राज्यों में कारोबार खोलने की अनुमति
अमेरिका में संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित न्यूयॉर्क और मिशिगन के गर्वनरों ने कम से कम मई के मध्य तक बंद लागू रखने का फैसला किया है। जॉर्जिया, ओकलाहोमा और अलास्का ने कुछ कारोबार फिर से खोलने की अनुमति दे दी है। अमेरिका स्थित ‘जॉन्स हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार संक्रमण से दुनिया भर में दो लाख लोगों की मौत हो चुकी है और 29 लाख लोग संक्रमित हुए हैं। हालांकि माना जा रहा है कि वास्तविक आंकड़ा इससे कहीं अधिक है। इटली, ब्रिटेन, स्पेन और फ्रांस में 20-20 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि अमेरिका में यह आंकड़ा करीब 55,000 है।

इटली में 4 मई से ढील
इटली में मौत की संख्या में कमी आने के बीच प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंते ने सामान्य स्थिति पर लौटने के लिए एक समय-सारिणी तैयार की है जिसके तहत फैक्ट्रियों, निर्माण कार्यों और थोक आपूर्ति कारोबारों को संक्रमण को काबू करने के लिए आवश्यक कदम उठाने की शर्त पर काम दोबारा शुरू करने की अनुमति दे दी गई है। उन्होंने कहा कि 4 मई से पार्क खोल दिए जाएंगे, अंतिम संस्कार की अनुमति दी जाएगी, एथलीट प्रशिक्षण आरंभ कर सकेंगे और एक ही क्षेत्र में रहने वाले अपने संबंधियों से मिल सकेंगे। यदि सब सही रहा, तो 18 मई को स्टोर और संग्रहालय खोल दिए जाएंगे और एक जून से कैफे एवं सलून खोले जाएंगे। लेकिन उन्होंने लोगों को इस दौरान मास्क पहनने और सामाजिक दूरी बनाए रखने की हिदायत दी।

दक्षिण कोरिया में भी स्कूल खोलने पर विचार
दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस संक्रमण के केवल 10 नए मामले सामने आए हैं। यह लगातार 26वां दिन हैं जब नए मामलों की संख्या 100 से नीचे है। देश में इस वायरस से कुल 10,738 लोग संक्रमित हुए हैं जिनमें से 243 की मौत हो गई है। दक्षिण कोरिया ने वृहद स्तर पर जांच करके और मरीजों को क्वारंटाइन में रख कर इस संक्रमण को काबू किया है। देश में आर्थिक गतिविधियों या अन्य गतिविधियों पर बंद लागू नहीं किया गया था, लेकिन स्कूलों को बंद कर दिया गया था जिन्हें खोले जाने पर विचार किया जा रहा है।

पढ़ें :- पंचायत चुनाव: ऑनलाइन तय होगा ग्राम पंचायतों में आरक्षण, 22 जनवरी को जारी होगी फाइनल वोटर लिस्ट

स्पेन में बच्चों को खेलने की आजादी
स्पेन में 14 साल से कम उम्र के बच्चों को अपने माता या पिता के साथ एक घंटे के लिए बाहर निकलकर खेलने की अनुमति दी गई। दो जुड़वा लड़कों की मां सुसाना साबाते ने कहा, ”यह शानदार है। मुझे यकीन नहीं होता कि छह सप्ताह हो गए हैं। आज जब मैंने अपने बच्चों को बाहर जाने के लिए उनके स्कूटर दिए, तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। जर्मनी ने भी गैर-जरूरी वस्तुओं की दुकानों को खोलने जाने की अनुमति दे दी है और डेनमार्क ने पांचवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए स्कूल खोल दिए हैं।”

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...