सिंधिया का इस्तीफा-सत्ता के लिए विचारधारा का अंत, MP के बाद राजस्थान, महाराष्ट्र पर BJP की नजर-सूत्र

bjp
सिंधिया का इस्तीफा-सत्ता के लिए विचारधारा का अंत, MP के बाद राजस्थान, महाराष्ट्र पर BJP की नजर-सूत्र

नई दिल्ली। देश में कुछ वर्षों से लगातार नेता सत्ता के लिए अपनी विचारधारा को त्याग रहे हैं। जिस पार्टी से उन्होने शुरूवात करी, पहचान बनाई, अगर बात कुर्सी की आये तो वही नेता उस पार्टी को त्याग कर विरोधियों से हाथ मिला लेते हैं। हाल ही में महाराष्ट्र में सीएम की कुर्सी को लेकर शिवसेना ने अपने विरोधियों के साथ हाथ मिला लिया था वहीं अब एमपी कांग्रेस के चर्चित नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में जाने का मन बना लिया हैं।

Scindia Resigns End Of Ideology For Power Bjps Eye On Rajasthan Maharashtra After Mp :

वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने हाल ही में राज्य चुनावों में हो रही लगातार हार के बाद किसी भी हालत में राज्यों की सत्ता हाशिल करने का मन बना लिया है। बीजेपी एमपी में कांग्रेस की सरकार गिराने में लगभग कामयाब हो गयी है, अब उसकी नजर महाराष्ट्र और राज्स्थान पर है। सूत्रों की माने तो राजस्थान में भी कांग्रेस के नेताओं में आपसी मतभेद चल रहा है, सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलन के बीच भी स​बकुछ सही नही है, वहीं महाराष्ट्र में भी शिवसेना का कुछ मुद्दों पर एनसीपी और कांग्रेस से तनाव जारी है जिसका बीजेपी भरपूर इस्तेमाल करने की कोशिश करेगी।

बता दें कि मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से चल रहे राजनीतिक घमासान के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को कांग्रेस छोड़ दी और उनके भाजपा में शामिल होने की संभावना है। साथ ही, पार्टी के 22 विधायकों के इस्तीफे से राज्य की कमलनाथ सरकार गिरने के कगार पर पहुंच गई है। हालांकि, कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते सिंधिया को निष्कासित किया गया है।

नई दिल्ली। देश में कुछ वर्षों से लगातार नेता सत्ता के लिए अपनी विचारधारा को त्याग रहे हैं। जिस पार्टी से उन्होने शुरूवात करी, पहचान बनाई, अगर बात कुर्सी की आये तो वही नेता उस पार्टी को त्याग कर विरोधियों से हाथ मिला लेते हैं। हाल ही में महाराष्ट्र में सीएम की कुर्सी को लेकर शिवसेना ने अपने विरोधियों के साथ हाथ मिला लिया था वहीं अब एमपी कांग्रेस के चर्चित नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में जाने का मन बना लिया हैं। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने हाल ही में राज्य चुनावों में हो रही लगातार हार के बाद किसी भी हालत में राज्यों की सत्ता हाशिल करने का मन बना लिया है। बीजेपी एमपी में कांग्रेस की सरकार गिराने में लगभग कामयाब हो गयी है, अब उसकी नजर महाराष्ट्र और राज्स्थान पर है। सूत्रों की माने तो राजस्थान में भी कांग्रेस के नेताओं में आपसी मतभेद चल रहा है, सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलन के बीच भी स​बकुछ सही नही है, वहीं महाराष्ट्र में भी शिवसेना का कुछ मुद्दों पर एनसीपी और कांग्रेस से तनाव जारी है जिसका बीजेपी भरपूर इस्तेमाल करने की कोशिश करेगी। बता दें कि मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से चल रहे राजनीतिक घमासान के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को कांग्रेस छोड़ दी और उनके भाजपा में शामिल होने की संभावना है। साथ ही, पार्टी के 22 विधायकों के इस्तीफे से राज्य की कमलनाथ सरकार गिरने के कगार पर पहुंच गई है। हालांकि, कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते सिंधिया को निष्कासित किया गया है।