पाक के ऊपर से नहीं गुजरेगा PM मोदी का प्लेन, अब इस रूट से होकर जाएंगे बिश्केक

modi
पाक के ऊपर से नहीं गुजरेगा PM मोदी का प्लेन, अब इस रूट से होकर जाएंगे बिश्केक

नई दिल्ली। शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से होकर नहीं जाएंगे। बुधवार को विदेश मंत्रालय ने बताया कि भारत सरकार के पास प्रधानमंत्री के वीवीआईपी विमान ओमान, ईरान और मध्य एशियाई देशों से किर्गिस्तान के बिश्केक जाएगा। पहले हम विमान को ले जाने के दो विकल्पों पर विचार कर रहे थे, लेकिन अब पाकिस्तान के रास्ते से नहीं जाने का फैसला लिया गया है।

Sco Summit Pm Modi Flight To Bishkek Will Not Use Pakistan Airspace :

गौरतलब है कि शंघाई सहयोग संगठन के 2019 का शिखर सम्मेलन बिश्केक की राजधानी किर्गिस्तान में 13 और 14 जून को आयोजित होगा। इसमें भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जाएंगे। इससे पहले खबर थी कि किर्गिस्तान जाने के लिए पीएम मोदी पाकिस्तान के हवाई रूट का इस्तेमाल करेंगे।

इसके लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने इजाजत भी दे दी थी, लेकिन समिट के ठीक एक दिन पहले विदेश मंत्रालय ने फैसला लिया कि पीएम मोदी पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से होकर नहीं जाएंगे। बता दें कि सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री मोदी, रूस के राष्ट्रपति पुतिन और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे।

पाकिस्तान ने खोले हैं सिर्फ 2 हवाई मार्ग

26 फरवरी को बालाकोट में आतंकी कैंपों पर हुए एयरस्ट्राइक के बाद से ही पाकिस्तान ने अपने हवाई मार्गों को बंद कर दिया था। बीते दिनों 11 हवाई मार्गों में से दक्षिणी पाकिस्तान से होकर जाने वाले केवल दो मार्ग ही खोले गए हैं।

सुषमा के लिए पाकिस्तान ने खोला था अपना हवाई क्षेत्र

इससे पहले 21 मई को पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बिश्केक जाने के लिए पाकिस्तान ने अपने हवाई क्षेत्र खोले थे। सुषमा स्वराज भी एससीओ समिट में हिस्सा लेने गई थीं। इसके बाद माना जा रहा था कि सुषमा की ही तरह पीएम मोदी भी पाकिस्तान के रास्ते बिश्केक जाएंगे, लेकिन ऐन वक्त पर फैसला बदल दिया गया है।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले खबरें आ रही थीं कि एससीओ सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच हो सकती है, लेकिन विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ऐसी खबरों को खारिज करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी और पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच किसी तरह की बैठक का आयोजन नहीं हो रहा है।

नई दिल्ली। शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से होकर नहीं जाएंगे। बुधवार को विदेश मंत्रालय ने बताया कि भारत सरकार के पास प्रधानमंत्री के वीवीआईपी विमान ओमान, ईरान और मध्य एशियाई देशों से किर्गिस्तान के बिश्केक जाएगा। पहले हम विमान को ले जाने के दो विकल्पों पर विचार कर रहे थे, लेकिन अब पाकिस्तान के रास्ते से नहीं जाने का फैसला लिया गया है। गौरतलब है कि शंघाई सहयोग संगठन के 2019 का शिखर सम्मेलन बिश्केक की राजधानी किर्गिस्तान में 13 और 14 जून को आयोजित होगा। इसमें भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जाएंगे। इससे पहले खबर थी कि किर्गिस्तान जाने के लिए पीएम मोदी पाकिस्तान के हवाई रूट का इस्तेमाल करेंगे। इसके लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने इजाजत भी दे दी थी, लेकिन समिट के ठीक एक दिन पहले विदेश मंत्रालय ने फैसला लिया कि पीएम मोदी पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से होकर नहीं जाएंगे। बता दें कि सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री मोदी, रूस के राष्ट्रपति पुतिन और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। पाकिस्तान ने खोले हैं सिर्फ 2 हवाई मार्ग 26 फरवरी को बालाकोट में आतंकी कैंपों पर हुए एयरस्ट्राइक के बाद से ही पाकिस्तान ने अपने हवाई मार्गों को बंद कर दिया था। बीते दिनों 11 हवाई मार्गों में से दक्षिणी पाकिस्तान से होकर जाने वाले केवल दो मार्ग ही खोले गए हैं। सुषमा के लिए पाकिस्तान ने खोला था अपना हवाई क्षेत्र इससे पहले 21 मई को पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बिश्केक जाने के लिए पाकिस्तान ने अपने हवाई क्षेत्र खोले थे। सुषमा स्वराज भी एससीओ समिट में हिस्सा लेने गई थीं। इसके बाद माना जा रहा था कि सुषमा की ही तरह पीएम मोदी भी पाकिस्तान के रास्ते बिश्केक जाएंगे, लेकिन ऐन वक्त पर फैसला बदल दिया गया है। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले खबरें आ रही थीं कि एससीओ सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच हो सकती है, लेकिन विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ऐसी खबरों को खारिज करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी और पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच किसी तरह की बैठक का आयोजन नहीं हो रहा है।