1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी में सरकार बनने पर मूर्तियां और संग्रहालय नहीं ​बल्कि बदलेंगे प्रदेश की तस्वीर : मायावती

यूपी में सरकार बनने पर मूर्तियां और संग्रहालय नहीं ​बल्कि बदलेंगे प्रदेश की तस्वीर : मायावती

बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुखिया मायावती (Mayawati) ने प्रबुद्ध वर्ग के सम्मापन पर कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर 2022 में प्रदेश में BSP की सरकार बनेगी तो मूर्तियां और संग्रहालय नहीं बल्कि प्रदेश की तस्वीर को बदलेगी। इसके साथ ही कहा कि ब्राह्मण समाज का पूरा सम्मान किया जाएगा। इसके साथ ही प्रदेश के विकास के साथ ही कानून व्यवस्था को भी दुरूस्त किया जाएगा। बता दें कि, मंगलवार को BSP द्वारा चलाए जा रहे प्रबुद्ध वर्ग के सम्मेलन का मंगलवार सम्मापन था।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुखिया मायावती (Mayawati) ने प्रबुद्ध वर्ग के सम्मापन पर कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर 2022 में प्रदेश में BSP की सरकार बनेगी तो मूर्तियां और संग्रहालय नहीं बल्कि प्रदेश की तस्वीर को बदलेगी। इसके साथ ही कहा कि ब्राह्मण समाज का पूरा सम्मान किया जाएगा। इसके साथ ही प्रदेश के विकास के साथ ही कानून व्यवस्था को भी दुरूस्त किया जाएगा। बता दें कि, मंगलवार को BSP द्वारा चलाए जा रहे प्रबुद्ध वर्ग के सम्मेलन का मंगलवार सम्मापन था।

पढ़ें :- UP चुनाव: बहुत संभल कर चुनावी मैदान में पांव रखने की मूड में कांग्रेस,चुनिंदा सीटों पर रहेगा फोकस
Jai Ho India App Panchang

इस अवसर पर मायावती Mayawati) ने अपने कार्यकर्ताओ को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में सरकार बनने पर ब्राह्मण समाज का पूरा सम्मान किया जाएगा। BJP सरकार पर हमला करते हुए कहा कि इस सरकार में ब्राह्मणों के साथ बहुत ही अत्चार हुआ है। मायावती (Mayawati) ने कहा कि ब्राह्मण उनके साथ आए तो निश्चित रूप से 2007 की तरह ही 2022 में भी BSP की सरकार बनेगी और उनका यह वादा है कि ब्राह्मणों के सम्मान, स्वाभिमान व रोजी-रोटी का वह पूरा ख्याल रखेंगी।

पहले सपा और बाद में भाजपा सरकार में ब्राह्मणों का उत्पीड़न होता रहा है। कुछ घटनाएं तो उनके साथ ऐसी हुईं जो राष्ट्रीय स्तर तक चर्चित रहीं। साथ ही मायावती ने कहा कि हमारी सरकार बनेगी तो हम महापुरुषों के पार्क, प्रतिमा या संग्रहालय बनाने में नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश की सूरत बदलने में अपनी ताकत लगाएंगे। बता दें कि, बसपा प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के जरिए ब्राह्मण वोटरों पर अपना फोकस बनाए हुए है। बसपा ने 23 जुलाई को राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा की अगुवाई में अयोध्या से प्रबुद्ध वर्ग विचार गोष्ठी (ब्राह्मण सम्मेलन) की शुरुआत की थी। मंगलवार इसका सम्मापन था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...