क्या है धारा-144? जाने कब और क्यों लगाई जाती है….

क्या है धारा-144? जाने कब और क्यों लगाई जाती है....
क्या है धारा-144? जाने कब और क्यों लगाई जाती है....

लखनऊ। रामजन्मभूमि—बाबरी मस्जिद सुनवाई का सुप्रीम कोर्ट में आखिरी दौर चल रहा है। सर्वोच्च अदालत की ओर से इस मामले में 17 अक्टूबर तक सुनवाई खत्म करने को कहा गया है। ऐसे में सुनवाई का आखिरी दौरन शुरू हो गया है। सोमवार को अदालत में मुस्लिम पक्ष की तरफ से दलील रखी जाएगी। वहीं दूसरी ओर जिलाधिकारी ने अयोध्या में धारा 144 लागू कर दी है, जो 10 दिसंबर तक लागू रहेगी। आइये जानते हैं क्या है धारा-144 और इसके प्रावधान से जुड़ी पूरी जानकारी के बारे में….

Section 144 Know All About It And Its Provisions :

धारा-144 क्या है और कब लगाई जाती है यह धारा

  • सीआरपीसी के तहत आने वाली धारा-144 शांति व्यवस्था कायम करने के लिए लगाई जाती है।
  • इस धारा को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट यानी जिलाधिकारी एक नोटिफिकेशन जारी करता है।
  • जिस जगह भी यह धारा लगाई जाती है, वहां चार या उससे ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते हैं।
  • इस धारा को लागू किए जाने के बाद उस स्थान पर हथियारों के लाने ले जाने पर भी रोक लगा दी जाती है।
  • धारा 144 लागू होने के बाद इंटरनेट सेवाओं को भी आम पहुंच से ठप किया जा सकता है।

कब तक लग सकती है धारा-144?

  • धारा-144 को 2 महीने से ज्यादा समय तक नहीं लगाया जा सकता है।
  • अगर राज्य सरकार को लगता है कि इंसानी जीवन को खतरा टालने या फिर किसी दंगे को टालने के लिए इसकी जरूरत है तो इसकी अवधि को बढ़ाया जा सकता है।
  • धारा-144 लगने की शुरुआती तारीख से छह महीने से ज्यादा समय तक इसे नहीं लगाया जा सकता है।

धारा-144 का उल्लंघन करने वाले को मिलती है यह सजा

  • धारा-144 का उल्लंघन करने वाले या इस धारा का पालन नहीं करने वाले व्यक्ति को पुलिस गिरफ्तार कर सकती है।
  • उस व्यक्ति की गिरफ्तारी धारा-107 या फिर धारा-151 के तहत की जा सकती है।
  • इस धारा का उल्लंघन करने वाले या पालन नहीं करने के आरोपी को एक साल कैद की सजा भी हो सकती है। वैसे यह एक जमानती अपराध है, इसमें जमानत हो जाती है।
लखनऊ। रामजन्मभूमि—बाबरी मस्जिद सुनवाई का सुप्रीम कोर्ट में आखिरी दौर चल रहा है। सर्वोच्च अदालत की ओर से इस मामले में 17 अक्टूबर तक सुनवाई खत्म करने को कहा गया है। ऐसे में सुनवाई का आखिरी दौरन शुरू हो गया है। सोमवार को अदालत में मुस्लिम पक्ष की तरफ से दलील रखी जाएगी। वहीं दूसरी ओर जिलाधिकारी ने अयोध्या में धारा 144 लागू कर दी है, जो 10 दिसंबर तक लागू रहेगी। आइये जानते हैं क्या है धारा-144 और इसके प्रावधान से जुड़ी पूरी जानकारी के बारे में.... धारा-144 क्या है और कब लगाई जाती है यह धारा
  • सीआरपीसी के तहत आने वाली धारा-144 शांति व्यवस्था कायम करने के लिए लगाई जाती है।
  • इस धारा को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट यानी जिलाधिकारी एक नोटिफिकेशन जारी करता है।
  • जिस जगह भी यह धारा लगाई जाती है, वहां चार या उससे ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते हैं।
  • इस धारा को लागू किए जाने के बाद उस स्थान पर हथियारों के लाने ले जाने पर भी रोक लगा दी जाती है।
  • धारा 144 लागू होने के बाद इंटरनेट सेवाओं को भी आम पहुंच से ठप किया जा सकता है।
कब तक लग सकती है धारा-144?
  • धारा-144 को 2 महीने से ज्यादा समय तक नहीं लगाया जा सकता है।
  • अगर राज्य सरकार को लगता है कि इंसानी जीवन को खतरा टालने या फिर किसी दंगे को टालने के लिए इसकी जरूरत है तो इसकी अवधि को बढ़ाया जा सकता है।
  • धारा-144 लगने की शुरुआती तारीख से छह महीने से ज्यादा समय तक इसे नहीं लगाया जा सकता है।
धारा-144 का उल्लंघन करने वाले को मिलती है यह सजा
  • धारा-144 का उल्लंघन करने वाले या इस धारा का पालन नहीं करने वाले व्यक्ति को पुलिस गिरफ्तार कर सकती है।
  • उस व्यक्ति की गिरफ्तारी धारा-107 या फिर धारा-151 के तहत की जा सकती है।
  • इस धारा का उल्लंघन करने वाले या पालन नहीं करने के आरोपी को एक साल कैद की सजा भी हो सकती है। वैसे यह एक जमानती अपराध है, इसमें जमानत हो जाती है।