घाटी पहुंचे एनएसए अजित डोभाल ने आम लोगों के साथ खाई बिरयानी

c

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35ए का प्रावधान हटाने के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल बुधवार को जम्मू कश्मीर के शोपियां में जमीनी हकीकत का जायजा लेने पहुंचे। यहां लोगों ने उन्हें हाथों हाथा लिया। डोभाल ने भी आम जनता की भावनाओं का ख्याल रखते हुए राह चलते ही उनके साथ बिरयानी का लुत्फ उठाया।

Security Advisor Ajit Doval Interacts With Locals In Shopian Has Lunch With Them :

डोभाल के बिरयानी खाने की यह तस्वीर साफ बयां कर रही है कि जम्मू कश्मीर के हालात वैसे नहीं हैं जैसा कि कुछ राजनेता दर्शाने की कोशिश कर रहे हैं। इस दौरान डोभाल ने आम लोगों से बातचीत भी की। उनसे जमीनी हकीकत समझने की कोशिश की क्या वाकई राज्य से धारा 370 और 35ए का प्रावधान हटाए जाने उनमें नाराजगी है।

सामने आई तस्वीर तो साफ बयां कर रही है कि आम लोग इससे काफी खुश हैं। बस चंद राजनेता अपने निजी हितों की रक्षा के लिए संसद और मीडिया में झूठे बयान दे रहे हैं। जम्मू.कश्मीर के शोपियां पहुंचे अजीत डोभाल ने पहले सुरक्षाबलों का हालचाल जाना।

उसके बाद शोपियां के स्थानीय लोगों के साथ खाना भी खाया। जम्मू कश्मीर में धारा 370 खत्म होने के बाद अजीत डोभाल और जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह शोपियां पहुंचे। उन्होंने सुरक्षाबलों से बातचीत की और हालचाल जाना। इस दौरान अजीत डोभाल ने सुरक्षाबलों को अपने बारे में बताया। डीजीपी दिलबाग सिंह ने भी जवानों को बताया कि कैसे एनएसए प्रमुख उनके काम को सराहा है।

इसके बाद अजीत डोभाल शोपियां के लोगों से मुलाकात की। वहां उन्होंने लोगों से बातचीत करने के बाद उनके साथ खाना भी खाया। यहां आपको बता दें कि भारत सरकार ने लोकसभा और राज्यसभा में जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल पारित कराकर जम्मू कश्मीर को भारत के दूसरे राज्यों जैसा दर्जा दे दिया है। अब इस राज्य में धारा 370 और 35ए का प्रावधान खत्म हो चुका है।

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35ए का प्रावधान हटाने के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल बुधवार को जम्मू कश्मीर के शोपियां में जमीनी हकीकत का जायजा लेने पहुंचे। यहां लोगों ने उन्हें हाथों हाथा लिया। डोभाल ने भी आम जनता की भावनाओं का ख्याल रखते हुए राह चलते ही उनके साथ बिरयानी का लुत्फ उठाया। डोभाल के बिरयानी खाने की यह तस्वीर साफ बयां कर रही है कि जम्मू कश्मीर के हालात वैसे नहीं हैं जैसा कि कुछ राजनेता दर्शाने की कोशिश कर रहे हैं। इस दौरान डोभाल ने आम लोगों से बातचीत भी की। उनसे जमीनी हकीकत समझने की कोशिश की क्या वाकई राज्य से धारा 370 और 35ए का प्रावधान हटाए जाने उनमें नाराजगी है। सामने आई तस्वीर तो साफ बयां कर रही है कि आम लोग इससे काफी खुश हैं। बस चंद राजनेता अपने निजी हितों की रक्षा के लिए संसद और मीडिया में झूठे बयान दे रहे हैं। जम्मू.कश्मीर के शोपियां पहुंचे अजीत डोभाल ने पहले सुरक्षाबलों का हालचाल जाना। उसके बाद शोपियां के स्थानीय लोगों के साथ खाना भी खाया। जम्मू कश्मीर में धारा 370 खत्म होने के बाद अजीत डोभाल और जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह शोपियां पहुंचे। उन्होंने सुरक्षाबलों से बातचीत की और हालचाल जाना। इस दौरान अजीत डोभाल ने सुरक्षाबलों को अपने बारे में बताया। डीजीपी दिलबाग सिंह ने भी जवानों को बताया कि कैसे एनएसए प्रमुख उनके काम को सराहा है। इसके बाद अजीत डोभाल शोपियां के लोगों से मुलाकात की। वहां उन्होंने लोगों से बातचीत करने के बाद उनके साथ खाना भी खाया। यहां आपको बता दें कि भारत सरकार ने लोकसभा और राज्यसभा में जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल पारित कराकर जम्मू कश्मीर को भारत के दूसरे राज्यों जैसा दर्जा दे दिया है। अब इस राज्य में धारा 370 और 35ए का प्रावधान खत्म हो चुका है।