1. हिन्दी समाचार
  2. आतंकियों के सफाए को सुरक्षाबलों ने शुरू किया ऑपरेशन

आतंकियों के सफाए को सुरक्षाबलों ने शुरू किया ऑपरेशन

Security Forces Started Operation To Eliminate Terrorists

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

श्रीनगर: उत्तर कश्मीर में करीब 60 आतंकी सक्रिय हैं। इनमें से करीब 40 आतंकी विदेशी ही हैं। सात पाकिस्तानी आतंकी एक माह पहले ही घुसपैठ करके इस तरफ आए हैं। उसके बाद उत्तर कश्मीर में सक्रिय हो गए है। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के सफाए को लेकर उत्तर कश्मीर में अभियान चलाया हुआ है। इसी क्रम में सोमवार को उस्मान कमांडर को साथी के साथ मार गिराया गया।

पढ़ें :- यूपी: बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह बोले, चीन और पाकिस्तान से कब युद्ध होगा PM मोदी ने तय कर लिया है

उत्तर कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों ने संयुक्त ऑपरेशन चलाया हुआ है। ताकि इस इलाके में आतंकियों का खात्मा किया जा सके। इस इलाके में पूरा फोकस रखा गया है। जानकारी के अनुसार, इन दिनों उत्तर कश्मीर में आतंकवाद से जुड़ी काफी घटनाएं हो रही हैं। आतंकियों की तरफ से नेता की हत्या की गई। इसके अलावा लोगों को धमकाया गया। कई आतंकी मारे गए। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने अब पूरा फोकस उत्तर कश्मीर में लगा दिया है। ताकि इस इलाके में भी आतंकियों को कड़ा जवाब दिया जा सके।

इस इलाके में आतंकवादी अपना गढ़ बनाने में लगे हुए हैं। पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक, उत्तरी कश्मीर में 60 सूचीबद्ध आतंकी हैं। इनमें 40 विदेशी आतंकी ही हैं। इसके अलावा सात विदेशी आतंकी बीते एक दो माह के दौरान ही घुसपैठ कर उत्तरी कश्मीर में दाखिल हुए हैं। इसके अलावा स्थानीय युवकों की आतंकी संगठनों में भर्ती में भी कमी आई है। बीते साल आतंकी बनने वाले स्थानीय युवकों में से अधिकांश मारे गए हैं या फिर पकड़े जा चुके हैं। इस साल भी हमने करीब एक दर्जन युवकों को आतंकी बनने से बचाया है। उनका कहना था कि पुलिस की तरफ से इस इलाके में पूरी निगरानी रखी गई है। क्योंकि आतंकी अपना गढ़ बनाने के काम में लगे हुए हैं।

जनता भी आतंकियों की मदद नहीं कर रही है
पुलिस ने बताया कि इन इलाकों में ऑपरेशन शुरू किया गया है। सुरक्षाबलों की तैनाती को बढ़ाने के अलावा हर समय गश्त, हाइवे पर सुरक्षा को बढ़ाया गया है। जिससे अगर कहीं पर भी आतंकियों की सूचनाएं आएं तो तुरंत काम किया जा सके। डीआईजी रेंज मोहम्मद सुलेमान चौधरी का कहना था कि इस इलाके में कई बड़े आतंकी मारे गए हैं। अब इस इलाके पर कड़ा फोकस रखा गया है। पुलिस ने अपने सूत्रों को आतंकियों की जानकारी जुटाने के काम में लगाया हुआ है। इन इलाकों में अब जनता भी आतंकियों की मदद नहीं कर रही है।

पढ़ें :- TRP फर्जीवाड़ा: क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट कार्रवाई में जुटी, रिपब्लिक चैनल के मालिक लटकी गिरफ्तारी की तलवार

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...