घटाई गई आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू की सुरक्षा, एयरपोर्ट पर ली गई तलाशी

chandar
घटाई गई पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू की सुरक्षा, एयरपोर्ट पर ली गई तलाशी

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू की सुरक्षा को घटा दिया गया है। राज्य के गन्न्वरम हवाई अड्डे पर पूर्व सीएम चंद्रबाबू की तलाशी ली गई, जिसके बाद उन्हें जाने दिया गया। बताया जा रहा है कि एयरपोर्ट तक जाने के लिए नायडू को वीवीआई सुविधा से भी वंचित कर दिया गया। इसके साथ ही उन्हें आम यात्रियों की तरह शटल बस में यात्रा करनी पड़ी।

Security Of Former Cm Chandrababu Naidu Decreased :

आंध्र प्रदेश विधानसभा के विपक्ष के नेता व पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू को Z+ श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई थी, इसमें 24 घंटे उनके साथ 23 सुरक्षाकर्मी और एस्कॉर्ट की गाड़ियां रहती हैं। 2003 में तिरुपति के अलिपिरि में माओवादियों ने उनपर हमला कर दिया था। इसके बाद से उनको Z+ श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। वहीं इस घटना के बाद टीडीपी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।

पार्टी का आरोप है कि बीजेपी और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) बदले की राजनीति कर रहे हैं। पार्टी का कहना है कि चंद्रबाबू नायडू भारतीय राजनीति में सम्मानित स्थान रखते हैं, उनके साथ इस तरह का व्यवहार करना ​गलत है, जिसकी हम निंदा करते हैं। टीडीपी नेता और राज्य के पूर्व गृह मंत्री चिन्ना राजप्पा ने कहा कि अधिकारियों का रवैया न केवल अपमानजनक था, बल्कि उन्होंने नायडू की सुरक्षा पर भी समझौता किया क्योंकि उन्हें “जेड प्लस ‘श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है।

उन्होंने कहा कि नायडू को कभी भी इस स्थिति का सामना नहीं करना पड़ा, हालांकि वह कई वर्षों से विपक्ष में थे। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार से नायडू को उचित सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की।

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू की सुरक्षा को घटा दिया गया है। राज्य के गन्न्वरम हवाई अड्डे पर पूर्व सीएम चंद्रबाबू की तलाशी ली गई, जिसके बाद उन्हें जाने दिया गया। बताया जा रहा है कि एयरपोर्ट तक जाने के लिए नायडू को वीवीआई सुविधा से भी वंचित कर दिया गया। इसके साथ ही उन्हें आम यात्रियों की तरह शटल बस में यात्रा करनी पड़ी। आंध्र प्रदेश विधानसभा के विपक्ष के नेता व पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू को Z+ श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई थी, इसमें 24 घंटे उनके साथ 23 सुरक्षाकर्मी और एस्कॉर्ट की गाड़ियां रहती हैं। 2003 में तिरुपति के अलिपिरि में माओवादियों ने उनपर हमला कर दिया था। इसके बाद से उनको Z+ श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। वहीं इस घटना के बाद टीडीपी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। पार्टी का आरोप है कि बीजेपी और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) बदले की राजनीति कर रहे हैं। पार्टी का कहना है कि चंद्रबाबू नायडू भारतीय राजनीति में सम्मानित स्थान रखते हैं, उनके साथ इस तरह का व्यवहार करना ​गलत है, जिसकी हम निंदा करते हैं। टीडीपी नेता और राज्य के पूर्व गृह मंत्री चिन्ना राजप्पा ने कहा कि अधिकारियों का रवैया न केवल अपमानजनक था, बल्कि उन्होंने नायडू की सुरक्षा पर भी समझौता किया क्योंकि उन्हें "जेड प्लस 'श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है। उन्होंने कहा कि नायडू को कभी भी इस स्थिति का सामना नहीं करना पड़ा, हालांकि वह कई वर्षों से विपक्ष में थे। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार से नायडू को उचित सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की।