संसद परिसर में बैरीकेड से भिड़ी कांग्रेस सांसद की कार, कमांडो ने तान दी बंदूक

army
संसद परिसर में बैरीकेड से भिड़ी कांग्रेस सांसद की कार, कमांडो ने तान दी बंदूक

नई दिल्ली। संसद परिसर में मंगलवार को उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक कार असंतुलित होकर बैरिकेड से टकरा गई। इसके बाद सुरक्षा व्यवस्था को हाईअलर्ट पर कर दिया गया। यह कार मणिपुर से कांग्रेस सांसद डॉ. थोकचाम मेन्या की थी। कार टकराने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। जैसे ही कार बैरीकेड से टकराई, संसद भवन परिसर में मौजूद सुरक्षा एजेंसियों के स्नाइपर्स ने उसे निशाने पर ले लिया।

Security On High Alert After Car Of Congress Mp Dr Thokchom Meinya Rammed Into A Barricade In Parliament :

संसद की सुरक्षा में तैनात कमांडो ने जैसे ही इस कार को अंदर घुसते देखा, उन्होंने उसपर बंदूक तान दी। बाद में जांच में खुलासा हुआ कि ये कार मणिपुर से कांग्रेस सांसद डॉक्टर थोकचोम मेनिया की है। सुरक्षाकर्मियों ने कार को कब्जे में लेकर उसकी जांच शुरू कर दी है। सुरक्षाकर्मी घटना की जांच में जुट गए हैं।

दिसंबर 2018 में भी इसी तरह की एक घटना में एक टैक्सी ने प्रवेश द्वार पर लगे बैरिकेडिंग पोल को टक्कर मार दी थी। जिसके बाद सुरक्षा व्यवस्था को हाई अलर्ट पर कर दिया गया था। संसद के प्रवेश द्वार पर टोयोटा इनोवा एक खंभे से टकरा जाने पर सुरक्षा सायरन बजना शुरू हो गए थे।

2001 के आत्मघाती हमले के बाद संसद भवन की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया था। इस हमले में नौ लोग मारे गए थे। इस हमले के बाद उन्नत हथियारों, नए डिटेक्टर गैजेट्स, स्निफर डॉग और बख्तरबंद वाहनों के अलावा बेहतर प्रशिक्षित जवानों के साथ संसद की सुरक्षा प्रणाली और मजबूत बनाया गया था।

नई दिल्ली। संसद परिसर में मंगलवार को उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक कार असंतुलित होकर बैरिकेड से टकरा गई। इसके बाद सुरक्षा व्यवस्था को हाईअलर्ट पर कर दिया गया। यह कार मणिपुर से कांग्रेस सांसद डॉ. थोकचाम मेन्या की थी। कार टकराने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। जैसे ही कार बैरीकेड से टकराई, संसद भवन परिसर में मौजूद सुरक्षा एजेंसियों के स्नाइपर्स ने उसे निशाने पर ले लिया। संसद की सुरक्षा में तैनात कमांडो ने जैसे ही इस कार को अंदर घुसते देखा, उन्होंने उसपर बंदूक तान दी। बाद में जांच में खुलासा हुआ कि ये कार मणिपुर से कांग्रेस सांसद डॉक्टर थोकचोम मेनिया की है। सुरक्षाकर्मियों ने कार को कब्जे में लेकर उसकी जांच शुरू कर दी है। सुरक्षाकर्मी घटना की जांच में जुट गए हैं। दिसंबर 2018 में भी इसी तरह की एक घटना में एक टैक्सी ने प्रवेश द्वार पर लगे बैरिकेडिंग पोल को टक्कर मार दी थी। जिसके बाद सुरक्षा व्यवस्था को हाई अलर्ट पर कर दिया गया था। संसद के प्रवेश द्वार पर टोयोटा इनोवा एक खंभे से टकरा जाने पर सुरक्षा सायरन बजना शुरू हो गए थे। 2001 के आत्मघाती हमले के बाद संसद भवन की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया था। इस हमले में नौ लोग मारे गए थे। इस हमले के बाद उन्नत हथियारों, नए डिटेक्टर गैजेट्स, स्निफर डॉग और बख्तरबंद वाहनों के अलावा बेहतर प्रशिक्षित जवानों के साथ संसद की सुरक्षा प्रणाली और मजबूत बनाया गया था।