दरिंदगी की घटनाओं के बाद दहशत, बेटियों ने लगाए पोस्टर, ‘सरकार सुरक्षा दे..क्योंकि घर में रहती हैं बेटियां’

varanshi
दरिंदगी की घटनाओं के बाद बेटियों ने लगाए पोस्टर, 'सरकार सुरक्षा दे..क्योंकि घर में रहती हैं बेटियां'

वाराणसी। अलीगढ़ के टप्पल गांव में ढाई साल की मासूम के साथ हुई हैवानियत की खबर से पूरे देश में आक्रोश है। लोग दोषियों को सख्त से सख्त सजा की मांग कर रहे हैं। इस बीच पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में इस घटना से डरे लोगों ने घर के बाहर पोस्टर लगाकर सरकार से सुरक्षा की मांग की है। घर के बाहर लगाए पोस्टर में लोगों ने लिखा है कि ‘सरकार सुरक्षा दे क्योंकि घर में बेटियां हैं’।

Security Sought By Daughters From Up Government :

वाराणसी के लक्सा क्षेत्र में घरों के बाहर बोर्ड लगे हैं, जिसमें लिखा है कि ‘सरकार सुरक्षा दे क्योंकि घर मेें बेटियां है’। बोर्ड लगाने वाली बच्चियों का कहना है कि जिस तरह से उत्तर प्रदेश में लगातार बेटियों के साथ घटनाएं सामने आ रही हैं, उससे वे काफी डरे और सहमे हुए हैं। बेटियों पर कोई अत्याचार न हो इसके लिए उन्होंने अपने घरों के बाहर पोस्टर बोर्ड लगाए हैं।

वहीं अलीगढ़ की घटना में मुख्य आरोपी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस पूरे घटना में पुलिस की घोर लापरवाही उजागर हुई थी। कई पुलिसकर्मियों के विरूद्ध कार्रवाई भी हुई। गौरतलब है कि टप्पल इलाके में पैसे के लेन-देन को लेकर हुए विवाद के कारण ढाई साल की एक बच्ची की हत्या करके उसका शव कूड़े के ढेर में डाल दिया गया था।

बच्ची की निर्मम हत्या के बाद लोगों को आक्रोश फूट पड़ा है। इलाके के लोग सड़कों पर उतर आए हैं। ये सभी बच्ची के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं। कस्बे में रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ), पीएसी कई थानों की पुलिस फोर्स तैनात है।

वाराणसी। अलीगढ़ के टप्पल गांव में ढाई साल की मासूम के साथ हुई हैवानियत की खबर से पूरे देश में आक्रोश है। लोग दोषियों को सख्त से सख्त सजा की मांग कर रहे हैं। इस बीच पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में इस घटना से डरे लोगों ने घर के बाहर पोस्टर लगाकर सरकार से सुरक्षा की मांग की है। घर के बाहर लगाए पोस्टर में लोगों ने लिखा है कि 'सरकार सुरक्षा दे क्योंकि घर में बेटियां हैं'। वाराणसी के लक्सा क्षेत्र में घरों के बाहर बोर्ड लगे हैं, जिसमें लिखा है कि 'सरकार सुरक्षा दे क्योंकि घर मेें बेटियां है'। बोर्ड लगाने वाली बच्चियों का कहना है कि जिस तरह से उत्तर प्रदेश में लगातार बेटियों के साथ घटनाएं सामने आ रही हैं, उससे वे काफी डरे और सहमे हुए हैं। बेटियों पर कोई अत्याचार न हो इसके लिए उन्होंने अपने घरों के बाहर पोस्टर बोर्ड लगाए हैं। वहीं अलीगढ़ की घटना में मुख्य आरोपी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस पूरे घटना में पुलिस की घोर लापरवाही उजागर हुई थी। कई पुलिसकर्मियों के विरूद्ध कार्रवाई भी हुई। गौरतलब है कि टप्पल इलाके में पैसे के लेन-देन को लेकर हुए विवाद के कारण ढाई साल की एक बच्ची की हत्या करके उसका शव कूड़े के ढेर में डाल दिया गया था। बच्ची की निर्मम हत्या के बाद लोगों को आक्रोश फूट पड़ा है। इलाके के लोग सड़कों पर उतर आए हैं। ये सभी बच्ची के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं। कस्बे में रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ), पीएसी कई थानों की पुलिस फोर्स तैनात है।