यहां देखे JLR की बिक्री में कितने फीसदी हुई बढ़ोतरी

JLR
यहां देखे JLR की बिक्री में कितने फीसदी हुई बढ़ोतरी

नई दिल्ली। दिग्गज कार निर्माता कंपनी TATA Motors Group की कंपनी जगुआर लैंड रोवर (JLR) की बिक्री जुलाई में पांच फीसद की बढ़ोतरी के साथ 37,945 इकाई रही। टाटा मोटर्स ने शेयर बाजारों को जानकारी दी है कि जुलाई में जगुआर ब्रांड के वाहनों की बिक्री 11,386 इकाइयों की और लैंड रोवर ब्रांड के 26,559 वाहनों की रही। जगुआर की बिक्री में सालाना आधार पर 3.6 फीसद और लैंड रोवर की बिक्री में 5.6 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई।

See Here How Many Percent Increase In Sales Of Jlr :

दरअसल, JLR के मुख्य वाणिज्यिक अधिकारी फेलिक्स ब्रॉटिगम ने कहा, “ब्रिटेन में जुलाई में अच्छी खुदरा बिक्री हुई। वहां हमने पूरे कार उद्योग के औसत से अच्छा प्रदर्शन किया। इसी तरह अमेरिका में इस बार जुलाई माह की उसकी अब तक की सबसे अधिक बिक्री हुई। उन्होंने कहा कि चीन में बिक्री पिछले साल जुलाई की तुलना में उल्लेखनीय रूप से बेहतर रही।”

बता दें कि JLR की पैरेंट कंपनी टाटा मोटर्स के लिए चालू वित्त वर्ष का अब तक का समय अच्छा नहीं गया है। पूरे ऑटो सेक्टर की मंदी के चलते टाटा मोटर्स की भी घरेलू बिक्री में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। कंपनी इलेक्टिक वाहनों को लेकर सरकार से भी लंबी अवधि की स्पष्ट रूपरेखा तैयार करने की मांग करती रही है।

नई दिल्ली। दिग्गज कार निर्माता कंपनी TATA Motors Group की कंपनी जगुआर लैंड रोवर (JLR) की बिक्री जुलाई में पांच फीसद की बढ़ोतरी के साथ 37,945 इकाई रही। टाटा मोटर्स ने शेयर बाजारों को जानकारी दी है कि जुलाई में जगुआर ब्रांड के वाहनों की बिक्री 11,386 इकाइयों की और लैंड रोवर ब्रांड के 26,559 वाहनों की रही। जगुआर की बिक्री में सालाना आधार पर 3.6 फीसद और लैंड रोवर की बिक्री में 5.6 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई। दरअसल, JLR के मुख्य वाणिज्यिक अधिकारी फेलिक्स ब्रॉटिगम ने कहा, "ब्रिटेन में जुलाई में अच्छी खुदरा बिक्री हुई। वहां हमने पूरे कार उद्योग के औसत से अच्छा प्रदर्शन किया। इसी तरह अमेरिका में इस बार जुलाई माह की उसकी अब तक की सबसे अधिक बिक्री हुई। उन्होंने कहा कि चीन में बिक्री पिछले साल जुलाई की तुलना में उल्लेखनीय रूप से बेहतर रही।" बता दें कि JLR की पैरेंट कंपनी टाटा मोटर्स के लिए चालू वित्त वर्ष का अब तक का समय अच्छा नहीं गया है। पूरे ऑटो सेक्टर की मंदी के चलते टाटा मोटर्स की भी घरेलू बिक्री में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। कंपनी इलेक्टिक वाहनों को लेकर सरकार से भी लंबी अवधि की स्पष्ट रूपरेखा तैयार करने की मांग करती रही है।