1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. बच्चो को भूख से विलखता देख बेबस मां ने 150 रू के लिए मुंडवा दिया सर, और फिर…

बच्चो को भूख से विलखता देख बेबस मां ने 150 रू के लिए मुंडवा दिया सर, और फिर…

Seeing The Children Starving The Helpless Mother Shaved Her Head For 150 Rupees And Then

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: औरता हाय तेरी यही कहानी आँचल में है दूध और आंखो में पानी, किसी न सच ही कहा है भगवान हर जगह नहीं पहुंच सकते था इसलिए उन्होने मां बनाई। मां के प्यार में वो शक्ति है है कि रंक को भी  राजा बना दे, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी सच्चाई के बारे मे बताएँगे जिसके बारे मे सुन आपके भी इमोशनल हो जाएँगे।

पढ़ें :- बंगालः नारेबाजी से नाराज हुईं ममता बनर्जी, कहा-किसी को बुलाकर बेइज्जत करना ठीक नहीं

दरअसल, यह कहानी है तमिलनाडु के शहर सलेम की, जहां 3 बच्चों की मां प्रेमा (31) ने अपने भूखे बच्चों को खिलाने के लिए कुछ ऐसा किया जो आप सोच भी नहीं सकते। दरअसल माँ ने अपने सिर के बाल मुड़वा दिए और उन्हें 150 रुपये में बेच दिया।  प्रेमा के पति सेल्वन ने आत्महत्या कर ली थी और पति की आत्महत्या का कारण उसका कर्ज के बोझ से दबना बताया गया।

प्रेमा और सेल्वन दोनों ही ईंट भट्ठा मजदूर थे और दोनों ने अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी पैसे उधार लिए थे। दोनों ने उधार ले-लेकर 2.5 लाख से ज्यादा का कर्ज ले डाला था।  इसी कर्ज से परेशान होकर पति ने तो आत्महत्या कर ली लेकिन प्रेमा ने अपने बच्चों के लिए जिंदगी को चुना। जब प्रेमा के पास पैसे खत्म हो गए तो उसने अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से पैसे मांगे लेकिन सबने हाथ पीछे कर लिए। अंत में गांव के एक आदमी ने प्रेमा के सामने एक प्रस्ताव रखा।

पढ़ें :- हमारे नेताजी भारत के पराक्रम की प्रतिमूर्ति भी हैं और प्रेरणा भी : पीएम मोदी

युवक ने कहा कि, ‘अगर वह उसे सिर के बाल दे तो वह उसे पैसे देगा।’ यह सुनकर प्रेमा ने कुछ न सोचा क्योंकि उसे अपने बच्चों का पेट भरना था। उसने तुरंत अपने बाल 150 रुपये में बेच दिए। पैसे मिलते ही प्रेमा ने अपने बच्चों को खाना खिलाया। प्रेमा की कहानी जब एक ग्राफिक डिजाइनर ‘जी बाला’ को पता चली तो उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से प्रेमा के लिए क्राउड फंडिंग की। इस दौरान प्रेमा के लिए करीब 1.45 लाख रुपये जमा हो गए हैं और इसी के साथ ही जिला प्रशासन ने प्रेमा को मासिक विधवा पेंशन की मंजूरी दे दी है। वैसे प्रेमा को देखकर कहा जा सकता है माँ ही है जो हर स्थिति में लड़ लेती है और कभी भी डगमगाती नहीं है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...