1. हिन्दी समाचार
  2. गोरखपुर में पुलिस को देखकर नदी में कूदा अधेड़, मौत

गोरखपुर में पुलिस को देखकर नदी में कूदा अधेड़, मौत

Seeing The Police In Gorakhpur The Man Jumped Into The River Died

By बलराम सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर जिले में देशव्यापी लॉकडाउन के बीच दवा खत्‍म हो गई तो ग्रामीण नदी तैरकर दवा लेने शहर पहुंचा। नदी तो उसने पार कर ली लेकिन अब सामने पुलिस खड़ी थी। पुलिस ने उसे रोका तो वह डर से फिर नदी में कूद गया। पहले से ही काफी थक चुके इस शख्स की डूबकर मौत हो गई। इस बार वह नहीं बच पाया और डूबने से उसकी मौत हो गई।

पढ़ें :- 16 जनवरी 2021 का राशिफल: इस राशि के जातकों को मिलने वाला है रुका हुआ धन, जानिए अपनी राशि का हाल

गोरखपुर जनपद की सिकरीगंज थाने की पुलिस ने दौड़ाया तो पुलिस की लाठी के भय से एक अधेड़ व्यक्ति कुआनो नदी में कूद गया। आसपास के लोगों के सहयोग से पुलिस ने इन्हें नदी से निकाला। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हैंसर बाजार के डाक्टरों ने इन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

संतकबीरनगर के धनघटा थानाक्षेत्र के बड़गो गांव के निवासी 50 वर्षीय शिवकुमार पुत्र मेवा प्रसाद बुधवार को सुबह के करीब छह बजे गांव से पैदल निकले थे। शिवकुमार अपनी दवा लेने के लिए गांव से करीब दो किमी दूर गोरखपुर जनपद के सिकरीगंज जा रहे थे। सिकरीगंज पुल के पास लगे बैरियर के पास सुबह के साढ़े सात बजे पहुंचे कि गोरखपुर जनपद के सिकरीगंज थाने की पुलिस ने इन्हें रोक दिया। पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद शिवकुमार कुआनो नदी को तैरकर पार करके सिकरीगंज कस्बे के पास पहुंच गए।

इस बार नदी से बाहर निकलते ही सिकरीगंज पुलिस ने फिर उन्हें दौड़ा लिया। पुलिस की लाठी से बचने के लिए ये सिकरीगंज पुल के पास कुआनो नदी में कूद गए। आसपास के लोगों ने इन्हें डूबता हुआ देखकर शोर मचाया। इस पर घटनास्थल के पास संत कबीरनगर जनपद के धनघटा थानाक्षेत्र के बसवारी गांव पुलिस चौकी के पुलिसकर्मी पहुंचे। लोगों के सहयोग से पुलिसकर्मियों ने इन्हें नदी से बाहर निकलवाया। गंभीर अवस्‍था में शिवकुमार को लेकर पुलिस सीएचसी हैंसर बाजार पहुंची जहां डाक्टरों ने बाद मृत घोषित कर दिया।

बसवारी के चौकी प्रभारी कामेश्वर मिश्र ने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। शिवकुमार के कंधे में एक साल पहले चोट लगी थी। इसके अलावा इनकी 45 वर्षीय पत्नी प्रेमशीला के घुटने में दर्द था। दोनों की दवा चल रही थी। इनका एक रिस्‍तेदार दवा लेकर गोरखपुर के सिकरीगंज आया था। शिवकुमार वही दवा लेने सिकरीगंज जा रहे थे।

पढ़ें :- महराजगंज:जनता ने मौका दिया तो क्षेत्र का होगा समग्र विकास: रवींद्र जैन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...