देश के हालात देख आज गांधी जी की आत्मा भी होगी दुखी: सोनिया गांधी

soniya gandhi
देश के हालात देख आज गांधी जी की आत्मा भी होगी दुखी-सोनिया गांधी

नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर जहां कांग्रेस की तरफ से पूरे देश में पदयात्रा निकाली गयी वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी राजघाट पंहुचकर गांधी जी को श्रद्धांजलि दी। उन्होने इस मौेके पर एकबार फिर मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि गांधी का नाम लेना आसान है लेकिन उनके रास्ते पर चलना मुश्किल है।

Seeing The Situation Of The Country Today Gandhis Soul Will Also Be Sad Sonia Gandhi :

दिल्ली में कांग्रेस द्वारा पार्टी मुख्यालय से राजघाट तक पदयात्रा निकाली गयी थी जिसके समापन पर सोनिया गांधी ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि कुछ लोग देश को आरएसएस का प्रतीक बनाने में लगे है लेकिन ये सम्भव होने वाला नही क्योंकि हमारे देश की नींव में गांधी के विचार आज भी जिन्दा हैं। उन्होने कहा कि कुछ लोग आज गांधी जी का नाम तो लेते हैं लेकिन देश को उनके रास्ते से हटाकर दूसरी दिशा में ले जाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन आज भी गांधी जी के वुसूलो की आधारशिला स्थापित है इसलिए भारत पर कोई फर्क नही पड़ता।

सोनिया गांधी ने दिल्ली में राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस दफ़्तर से निकल कर राजघाट पहुंची कांग्रेस की पदयात्रा के समापन पर ये बातें कहीं.महात्मा गांधी जी ने पूरी दुनिया को अहिंसा और सत्य का रास्ता अपनाने की प्रेरणा दी. ऐसे महामानव की स्मृति को बार बार नमन करते हैं।

आज जब हमारा देश और पूरी दुनिया महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती मना रही है हम सब को इस बात का गर्व है कि आज भारत जहां पहुंचा है, गांधी जी के रास्ते पर चल कर पहुंचा है.गांधी जी का नाम लेना आसान है लेकिन उनके रास्ते पर चलना आसान नहीं है।


सोनिया गांधी ने कहा कि भारत और गांधी जी एक दूसरे के पर्याय हैं, लेकिन कुछ लोग ये चाहते हैं कि गांधी जी नही बल्कि आरएसएस भारत का प्रतीक बने, उन लोगोें ने सबकुछ उल्टा करने की जिद पकड़ ली है। उन्होने कहा कि गांधी जी सत्य के पुजारी थे साथ ही वो अहिंसा के उपासक भी रहे, लेकिन झूठ की राजनीति करने वाले ये कभी कहां समझ पायेंगे। ये लोग सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

उन्होने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा गांधी जी के विचारों पर चलने का प्रयास किया है, चाहे नेहरू जी, शास्त्री जी, इंदिरा जी, राजीव जी, नरसिम्हा राव जी या फिर डॉक्टर मनमोहन सिंह जी हों सभी ने नए भारत के निर्माण के लिए दिन रात संघर्ष किया है। गांधी जी के विचारो पर चलते हुए ही कांग्रेस ने देश में रोज़गार के अवसर पैदा किए, लोगों को ग़रीबी से मुक्ति दिलाई, किसानों को नए नए साधन उपलब्ध कराए, हमारी बहनों के लिए सुविधाएं मुहैया करवाई, शिक्षा व्यवस्था सुधारने के लिए नई नई नीतियां बनाई।

उन्होने कहा कि आज गांधी जी की आत्मा बहुत दुखी होगी क्योकि जिन लोगो पर जुल्म होता है वही जेल में डाल दिये जाते हैं, युवा बेराजगारी से लड़ रहे हैं, व्यापारी भी परेशान है, उद्योग धंधे बंद हो गए हैं। बहने भी सुरक्षित नही हैं, लगातार उनपर अत्याचार हो रहा है। उनका कहना है ​चाहे जितना कोई दिखावा करे पर कांग्रेस ही गांधी जी के सिद्धांतों पर चलती है। उनका कहना था कांग्रेस देश हित मे लगातार संघर्ष करती रहेगी चाहे जितनी ​रूकावटे आयें।

नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर जहां कांग्रेस की तरफ से पूरे देश में पदयात्रा निकाली गयी वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी राजघाट पंहुचकर गांधी जी को श्रद्धांजलि दी। उन्होने इस मौेके पर एकबार फिर मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि गांधी का नाम लेना आसान है लेकिन उनके रास्ते पर चलना मुश्किल है। दिल्ली में कांग्रेस द्वारा पार्टी मुख्यालय से राजघाट तक पदयात्रा निकाली गयी थी जिसके समापन पर सोनिया गांधी ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि कुछ लोग देश को आरएसएस का प्रतीक बनाने में लगे है लेकिन ये सम्भव होने वाला नही क्योंकि हमारे देश की नींव में गांधी के विचार आज भी जिन्दा हैं। उन्होने कहा कि कुछ लोग आज गांधी जी का नाम तो लेते हैं लेकिन देश को उनके रास्ते से हटाकर दूसरी दिशा में ले जाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन आज भी गांधी जी के वुसूलो की आधारशिला स्थापित है इसलिए भारत पर कोई फर्क नही पड़ता। सोनिया गांधी ने दिल्ली में राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस दफ़्तर से निकल कर राजघाट पहुंची कांग्रेस की पदयात्रा के समापन पर ये बातें कहीं.महात्मा गांधी जी ने पूरी दुनिया को अहिंसा और सत्य का रास्ता अपनाने की प्रेरणा दी. ऐसे महामानव की स्मृति को बार बार नमन करते हैं। आज जब हमारा देश और पूरी दुनिया महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती मना रही है हम सब को इस बात का गर्व है कि आज भारत जहां पहुंचा है, गांधी जी के रास्ते पर चल कर पहुंचा है.गांधी जी का नाम लेना आसान है लेकिन उनके रास्ते पर चलना आसान नहीं है। सोनिया गांधी ने कहा कि भारत और गांधी जी एक दूसरे के पर्याय हैं, लेकिन कुछ लोग ये चाहते हैं कि गांधी जी नही बल्कि आरएसएस भारत का प्रतीक बने, उन लोगोें ने सबकुछ उल्टा करने की जिद पकड़ ली है। उन्होने कहा कि गांधी जी सत्य के पुजारी थे साथ ही वो अहिंसा के उपासक भी रहे, लेकिन झूठ की राजनीति करने वाले ये कभी कहां समझ पायेंगे। ये लोग सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते हैं। उन्होने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा गांधी जी के विचारों पर चलने का प्रयास किया है, चाहे नेहरू जी, शास्त्री जी, इंदिरा जी, राजीव जी, नरसिम्हा राव जी या फिर डॉक्टर मनमोहन सिंह जी हों सभी ने नए भारत के निर्माण के लिए दिन रात संघर्ष किया है। गांधी जी के विचारो पर चलते हुए ही कांग्रेस ने देश में रोज़गार के अवसर पैदा किए, लोगों को ग़रीबी से मुक्ति दिलाई, किसानों को नए नए साधन उपलब्ध कराए, हमारी बहनों के लिए सुविधाएं मुहैया करवाई, शिक्षा व्यवस्था सुधारने के लिए नई नई नीतियां बनाई। उन्होने कहा कि आज गांधी जी की आत्मा बहुत दुखी होगी क्योकि जिन लोगो पर जुल्म होता है वही जेल में डाल दिये जाते हैं, युवा बेराजगारी से लड़ रहे हैं, व्यापारी भी परेशान है, उद्योग धंधे बंद हो गए हैं। बहने भी सुरक्षित नही हैं, लगातार उनपर अत्याचार हो रहा है। उनका कहना है ​चाहे जितना कोई दिखावा करे पर कांग्रेस ही गांधी जी के सिद्धांतों पर चलती है। उनका कहना था कांग्रेस देश हित मे लगातार संघर्ष करती रहेगी चाहे जितनी ​रूकावटे आयें।