अगर आप भी जाना चाहते हैं मंगल गृह पर तो नासा को भेजें अपना नाम, जाने पूरा प्रोसेस

अगर आप भी जाना चाहते हैं मंगल गृह पर तो नासा को भेजें अपना नाम, जाने पूरा प्रोसेस
अगर आप भी जाना चाहते हैं मंगल गृह पर तो नासा को भेजें अपना नाम, जाने पूरा प्रोसेस

नई दिल्ली। अगर आप भी मंगल गृह पर जाना चाहते हैं तो यह खबर आपके लिए काम की हो सकती है। दरअसल, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने लाल ग्रह(मंगल ग्रह) पर जाने वाले ‘मार्स 2020 रोवर’ के लिए इच्छुक लोगों से अपने नाम भेजने को कहा है। मिली जानकारी के मुताबिक नासा ने अपने एक बयान में कहा कि चिप पर लिखे इन नामों को रोवर पर भेजा जायेगा। जिसके माध्यम से ऐसा पहली बार होगा कि मानव के किसी अन्य ग्रह पर कदम रखने की संभावना प्रबल होगी।

Send Your Name Here To Fly Aboard Nasas Next Mars Rover In 2020 :

बताया जा रहा है कि रोवर को जुलाई 2020 तक प्रक्षेपित किया जायेगा और संभावना यह है कि अंतरिक्ष यान फरवरी 2021 में मंगल की सतह को छू लेगा। 1,000 किलोग्राम से अधिक वजन वाला रोवर ग्रह पर किसी समय मौजूद रहे सूक्ष्मजीवीय जीवन के चिह्न तलाश करेगा और वहां की जलवायु एवं भूतत्वों की विशेषता का पता लगायेगा। साथ ही वह धरती पर लौटने से पहले ग्रह से नमूने एकत्र कर लाल ग्रह के मानव अन्वेषण का मार्ग प्रशस्त करेगा।

नासा के साइंस मिशन डाइरेक्टरेट सहायक प्रशासक थॉमस जुरबुचेन ने इस बारे में कहा कि, ‘हम लोग इस ऐतिहासिक मंगल अभियान को शुरू करने के लिये तैयार हैं। हम इस अन्वेषण यात्रा में हर किसी की भागीदारी चाहते हैं।’ नासा ने कहा है कि नासा को नाम भेजने का अवसर एक यादगार बोर्डिंग पास का भी मौका देता है।

नई दिल्ली। अगर आप भी मंगल गृह पर जाना चाहते हैं तो यह खबर आपके लिए काम की हो सकती है। दरअसल, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने लाल ग्रह(मंगल ग्रह) पर जाने वाले ‘मार्स 2020 रोवर’ के लिए इच्छुक लोगों से अपने नाम भेजने को कहा है। मिली जानकारी के मुताबिक नासा ने अपने एक बयान में कहा कि चिप पर लिखे इन नामों को रोवर पर भेजा जायेगा। जिसके माध्यम से ऐसा पहली बार होगा कि मानव के किसी अन्य ग्रह पर कदम रखने की संभावना प्रबल होगी। बताया जा रहा है कि रोवर को जुलाई 2020 तक प्रक्षेपित किया जायेगा और संभावना यह है कि अंतरिक्ष यान फरवरी 2021 में मंगल की सतह को छू लेगा। 1,000 किलोग्राम से अधिक वजन वाला रोवर ग्रह पर किसी समय मौजूद रहे सूक्ष्मजीवीय जीवन के चिह्न तलाश करेगा और वहां की जलवायु एवं भूतत्वों की विशेषता का पता लगायेगा। साथ ही वह धरती पर लौटने से पहले ग्रह से नमूने एकत्र कर लाल ग्रह के मानव अन्वेषण का मार्ग प्रशस्त करेगा। नासा के साइंस मिशन डाइरेक्टरेट सहायक प्रशासक थॉमस जुरबुचेन ने इस बारे में कहा कि, 'हम लोग इस ऐतिहासिक मंगल अभियान को शुरू करने के लिये तैयार हैं। हम इस अन्वेषण यात्रा में हर किसी की भागीदारी चाहते हैं।' नासा ने कहा है कि नासा को नाम भेजने का अवसर एक यादगार बोर्डिंग पास का भी मौका देता है।