कांग्रेस नेता जयराम रमेश के बाद सिंघवी बोले-पीएम मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत

abhisek mani
कांग्रेस नेता जयराम नरेश के बाद सिंघवी बोले-पीएम मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कांग्रेस नेताओं के सुर बदलने लगे हैं। जयराम रमेश के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने पीएम की तारीफ करनी शुरू कर दी है। सिंघवी ने कहा कि, पीएम मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है और ऐसा करके विपक्ष एक तरह से उनकी मदद करता है। सिंघवी ने जयराम रमेश के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया है।

Senior Congress Leader Abhishek Manu Singhvi Praised Pm :

उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, ‘मैंने हमेशा कहा है कि, मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं, बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, ‘काम हमेश अच्छा, बुरा या मामूली होता है। काम का मूल्यांकन व्यक्ति नहीं बल्कि मुद्दों के आधार पर होना चाहिए। जैसे उज्ज्वला योजना कुछ अच्छे कामों में एक है।’

बता दें कि, बीते बुधवार को जयराम रमेश ने राजनीतिक विश्लेषक कपिल सतीश कोमीरेड्डी की किताब मेलिवॉलेंट रिपब्लिक: एक शॉर्ट हिस्ट्री आफ द न्यू इंडिया का विमोचन करते हुए कहा था कि, पीएम नरेंद्र मोदी के शासन का मॉडल पूरी तरह नकारात्मक गाथा नहीं है और उनके काम के महत्व को स्वीकार नहीं करना तथा हर समय उन्हें खलनायक की तरह पेश करके कुछ हासिल नहीं होने वाला है।

इसके साथ ही, रमेश ने एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर कहा कि यह वक्त है, जब हम मोदी के काम और 2014 से 2019 के बीच उन्होंने जो किया उसके महत्व को समझे, जिसके कारण वह सत्ता में लौटे। इसी की वजह से 30 प्रतिशत मतदाताओं ने उनकी सत्ता वापसी करवाई।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कांग्रेस नेताओं के सुर बदलने लगे हैं। जयराम रमेश के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने पीएम की तारीफ करनी शुरू कर दी है। सिंघवी ने कहा कि, पीएम मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है और ऐसा करके विपक्ष एक तरह से उनकी मदद करता है। सिंघवी ने जयराम रमेश के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, 'मैंने हमेशा कहा है कि, मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं, बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।' इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, 'काम हमेश अच्छा, बुरा या मामूली होता है। काम का मूल्यांकन व्यक्ति नहीं बल्कि मुद्दों के आधार पर होना चाहिए। जैसे उज्ज्वला योजना कुछ अच्छे कामों में एक है।' बता दें कि, बीते बुधवार को जयराम रमेश ने राजनीतिक विश्लेषक कपिल सतीश कोमीरेड्डी की किताब मेलिवॉलेंट रिपब्लिक: एक शॉर्ट हिस्ट्री आफ द न्यू इंडिया का विमोचन करते हुए कहा था कि, पीएम नरेंद्र मोदी के शासन का मॉडल पूरी तरह नकारात्मक गाथा नहीं है और उनके काम के महत्व को स्वीकार नहीं करना तथा हर समय उन्हें खलनायक की तरह पेश करके कुछ हासिल नहीं होने वाला है। इसके साथ ही, रमेश ने एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर कहा कि यह वक्त है, जब हम मोदी के काम और 2014 से 2019 के बीच उन्होंने जो किया उसके महत्व को समझे, जिसके कारण वह सत्ता में लौटे। इसी की वजह से 30 प्रतिशत मतदाताओं ने उनकी सत्ता वापसी करवाई।