1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद थाम सकते हैं बीजेपी का झंडा

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद थाम सकते हैं बीजेपी का झंडा

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद बुधवार दोपहर करीब एक बजे भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम सकते हैं। बता दें कि जितिन प्रसाद काफी समय से कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से नाराज बताए जा रहे हैं। हालांकि हाल में हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में पार्टी से चुनाव प्रभारी बनाकर भेजा था, जहां पर कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन निराशाजनक ही था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Senior Congress Leader Jitin Prasada Can Hold Bjps Flag

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद बुधवार दोपहर करीब एक बजे भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम सकते हैं। बता दें कि जितिन प्रसाद काफी समय से कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से नाराज बताए जा रहे हैं। हालांकि हाल में हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में पार्टी से चुनाव प्रभारी बनाकर भेजा था, जहां पर कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन निराशाजनक ही था। दोपहर एक बजे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलवा सकते हैं।

पढ़ें :- वाराणसी के कमिश्नर और डीएम अच्छे से काम कर रहे हैं या नहीं, अमित शाह ने बीजेपी नेता से पूछा

वह केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के आवास पहुंच गए हैं। कांग्रेस नेता के बीजेपी में शामिल होने का यह कार्यक्रम बीजेपी मुख्यालय में होगा। अगले साल उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव होने हैं और देश के सबसे बड़े राज्य के चुनाव की तैयारी में बीजेपी जुट चुकी है। इस कड़ी में बीजेपी ने एक बड़ी जीत हासिल की है। कांग्रेस के एक दिग्गज नेता को अपने पाले में कर लिया है।

जानें कौन हैं जितिन प्रसाद?

यूपी के शाहजहांपुर में पैदा हुए 48 साल के जितिन प्रसाद कांग्रेस के दिवंगत नेता और केंद्रीय मंत्री जितेंद्र प्रसाद के बेटे हैं। प्रसाद ने अपना राजनीतिक करियर साल 2001 में कांग्रेस के युवा संगठन यूथ कांग्रेस के साथ महासचिव के तौर पर शुरू किया था। साल 2004 में उन्होंने अपने गृह जिले शाहजहांपुर से अपना पहला लोकसभा चुनाव जीता है।

अपने पहले कार्यकाल में जितिन प्रसाद को कांग्रेस सरकार में इस्पात राज्य मंत्री बनाया गया। वे मनमोहन सिंह सरकार में सबसे युवा मंत्रियों में से एक थे। साल 2009 में उन्होंने धरौरा से चुनाव लड़ा. उन्होंने मीटर गेज लाइन को ब्रॉडगेज में बदलने का वादा किया, जिससे उन्हें भरपूर जनसमर्थन मिला। उन्होंने दो लाख वोट से जीत हासिल की थी।

पढ़ें :- सचिन पायलट को बीजेपी का ऑफर, 'इंडिया फर्स्ट' को प्राथमिकता देने वालों का है स्वागत

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X