आसिया की गिरफ्तारी और दिल्ली ले जाने के विरोध में कश्मीर बंद

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर की अलगाववादी नेता दुख्तरान-ए मिल्लत की चीफ आसिया अंद्राबी की गिरफ्तारी के विरोध में हुर्रियत नेताओं ने शनिवार को घाटी में बंद बुलाया है अंद्राबी की गिरफ्तारी के बाद अलगावादी नेताओ मे गुस्सा है। जिसके बाद उन्होंने बंद का आह्वान किया है सैयद अली गिलानी और मीरवाइज उमर फारूक समेत हुर्रियत के दोनों धड़ों ने आसिया की गिरफ्तारी और दिल्ली शिफ्ट करने की निंदा की है। एनआईए आसिया के साथ उनकी दो सहयोगियों नाहिदा नसरीन और सोफी फहमीदा को भी गिरफ्तार कर दिल्ली लाई है।

Separatists Called Strike Today In Kashmir Against Shifting Asiah Andrabi To Delhi :

एनआईए ने शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट की जिला व सत्र न्यायाधीश पूनम बांबा के समक्ष अंद्राबी, सोफी फहमिदा और नाहिदा नसरीन को पेश कर 15 दिन की रिमांड मांगी। एजेंसी ने कहा कि आसिया प्रतिबंधित संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत की मुखिया है। वह अब तक की जांच में देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश में शामिल पाई गई है। अब एनआईए उनसे इस बारे में पूछताछ करेगी।

बरामद हुए थे अशांति फैलाने वाले वीडियो

एनआई ने कोर्ट को बताया कि तीनों से बड़ी संख्या में ऐसे वीडियो और फोटो बरामद हुए हैं, जिनसे धर्म के आधार पर अशांति व अलगाव फैलाने की साजिश का खुलासा होता है। बचाव पक्ष के अधिवक्ता सतीश टमटा ने कहा कि बरामद वीडियो और फोटो वर्षों से फेसबुक समेत कई सोशल साइट पर मौजूद हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि इनके आधार पर एनआईए क्या पूछताछ करना चाहती है।

8 जुलाई को वानी की मौत के दो साल पूरे

हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के 8 जुलाई को दो साल पूरे होने वाले हैं। अलगाववादियों द्वारा आहूत बंद के मद्देनजर दो अलगाववादी नेताओं को हिरासत में लिया गया है। हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूक को उनके निगीन स्थित आवास में नजरबंद कर दिया गया। जेकेएलएफ के नेता यासीन मलिक को निवारक हिरासत में लिया गया है और पुलिस थाने भेजा गया है। संयुक्त प्रतिरोध नेतृत्व (जेआरएल) की अध्यक्षता करने वाले सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर और यासीन मलिक ने रविवार को कश्मीर घाटी में बंद का आह्वान किया है। बता दें कि वानी 8 जुलाई 2016 को अनंतनाग में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर की अलगाववादी नेता दुख्तरान-ए मिल्लत की चीफ आसिया अंद्राबी की गिरफ्तारी के विरोध में हुर्रियत नेताओं ने शनिवार को घाटी में बंद बुलाया है अंद्राबी की गिरफ्तारी के बाद अलगावादी नेताओ मे गुस्सा है। जिसके बाद उन्होंने बंद का आह्वान किया है सैयद अली गिलानी और मीरवाइज उमर फारूक समेत हुर्रियत के दोनों धड़ों ने आसिया की गिरफ्तारी और दिल्ली शिफ्ट करने की निंदा की है। एनआईए आसिया के साथ उनकी दो सहयोगियों नाहिदा नसरीन और सोफी फहमीदा को भी गिरफ्तार कर दिल्ली लाई है। एनआईए ने शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट की जिला व सत्र न्यायाधीश पूनम बांबा के समक्ष अंद्राबी, सोफी फहमिदा और नाहिदा नसरीन को पेश कर 15 दिन की रिमांड मांगी। एजेंसी ने कहा कि आसिया प्रतिबंधित संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत की मुखिया है। वह अब तक की जांच में देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश में शामिल पाई गई है। अब एनआईए उनसे इस बारे में पूछताछ करेगी।

बरामद हुए थे अशांति फैलाने वाले वीडियो

एनआई ने कोर्ट को बताया कि तीनों से बड़ी संख्या में ऐसे वीडियो और फोटो बरामद हुए हैं, जिनसे धर्म के आधार पर अशांति व अलगाव फैलाने की साजिश का खुलासा होता है। बचाव पक्ष के अधिवक्ता सतीश टमटा ने कहा कि बरामद वीडियो और फोटो वर्षों से फेसबुक समेत कई सोशल साइट पर मौजूद हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि इनके आधार पर एनआईए क्या पूछताछ करना चाहती है।

8 जुलाई को वानी की मौत के दो साल पूरे

हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के 8 जुलाई को दो साल पूरे होने वाले हैं। अलगाववादियों द्वारा आहूत बंद के मद्देनजर दो अलगाववादी नेताओं को हिरासत में लिया गया है। हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूक को उनके निगीन स्थित आवास में नजरबंद कर दिया गया। जेकेएलएफ के नेता यासीन मलिक को निवारक हिरासत में लिया गया है और पुलिस थाने भेजा गया है। संयुक्त प्रतिरोध नेतृत्व (जेआरएल) की अध्यक्षता करने वाले सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर और यासीन मलिक ने रविवार को कश्मीर घाटी में बंद का आह्वान किया है। बता दें कि वानी 8 जुलाई 2016 को अनंतनाग में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था।