कैमरून: स्‍कूल से अपहरण किए गए 79 बच्‍चों को छुड़ाया गया

कैमरून: स्‍कूल से अपहरण किए गए 79 बच्‍चों को छुड़ाया गया
कैमरून: स्‍कूल से अपहरण किए गए 79 बच्‍चों को छुड़ाया गया

नई दिल्ली। मध्य अफ्रीकी देश कैमरून के एक अंग्रेजी भाषी क्षेत्र में सोमवार को एक स्कूल से हुए 79 छात्रों के अपहरण के बाद आज उनको रिहा कर दिया गया है। अपहरणकर्ताओं ने बच्चों के साथ-साथ प्रिंसिपल को भी अपने साथ लेकर गए हैं। फिलहाल ये साफ नहीं हुआ है कि अपहरण की इस वारदात को किसने अंजाम दिया है। अभी तक किसी भी अलगाववादी संगठन ने इस घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है।

Separatists Left 79 Schoolchildren Kidnapped From Cameroon :

जानकारी के मुताबिक पूरा मामला पश्चिमी कैमरून के बामेंदा शहर स्थित एक स्कूल का है। सरकार और सेना से जुड़े सूत्रों के मुताबिक स्कूल से 79 बच्चों के साथ-साथ प्रिंसिपल का भी अपहरण किडनैपर्स ने किया गया था। सेना से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति पॉल बिया के फ्रेंच बोलने वाली सरकार का विरोध करते हुए अलगाववादियों ने कई इलाकों में कर्फ्यू का ऐलान कर रखा है। इस प्रदर्शन में स्कूलों को भी बंद रखने की धमकी दी थी। उनकी धमकी के बावजूद इस स्कूल को खोला गया था। इसी बीच सोमवार को बच्चों के साथ-साथ प्रिंसिपल के अगवा करने की खबर सामने आई थी।

सरकार के प्रवक्‍ता ने बताया कि घटना के बारे में पता लगाया जा रहा है, लेकिन इससे आगे वह टिप्पणी नहीं कर सका। 2017 में अलगाववादी आंदोलन के शांतिपूर्ण प्रदर्शनों पर सरकार की कार्रवाई के बाद तेजी पकड़ी। कई लोग बामेंडा और अन्य केंद्रों से शांतिपूर्ण क्षेत्र फ्रैंकोफोन में शरण लेने के लिए चले गए हैं।

नई दिल्ली। मध्य अफ्रीकी देश कैमरून के एक अंग्रेजी भाषी क्षेत्र में सोमवार को एक स्कूल से हुए 79 छात्रों के अपहरण के बाद आज उनको रिहा कर दिया गया है। अपहरणकर्ताओं ने बच्चों के साथ-साथ प्रिंसिपल को भी अपने साथ लेकर गए हैं। फिलहाल ये साफ नहीं हुआ है कि अपहरण की इस वारदात को किसने अंजाम दिया है। अभी तक किसी भी अलगाववादी संगठन ने इस घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है। जानकारी के मुताबिक पूरा मामला पश्चिमी कैमरून के बामेंदा शहर स्थित एक स्कूल का है। सरकार और सेना से जुड़े सूत्रों के मुताबिक स्कूल से 79 बच्चों के साथ-साथ प्रिंसिपल का भी अपहरण किडनैपर्स ने किया गया था। सेना से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति पॉल बिया के फ्रेंच बोलने वाली सरकार का विरोध करते हुए अलगाववादियों ने कई इलाकों में कर्फ्यू का ऐलान कर रखा है। इस प्रदर्शन में स्कूलों को भी बंद रखने की धमकी दी थी। उनकी धमकी के बावजूद इस स्कूल को खोला गया था। इसी बीच सोमवार को बच्चों के साथ-साथ प्रिंसिपल के अगवा करने की खबर सामने आई थी। सरकार के प्रवक्‍ता ने बताया कि घटना के बारे में पता लगाया जा रहा है, लेकिन इससे आगे वह टिप्पणी नहीं कर सका। 2017 में अलगाववादी आंदोलन के शांतिपूर्ण प्रदर्शनों पर सरकार की कार्रवाई के बाद तेजी पकड़ी। कई लोग बामेंडा और अन्य केंद्रों से शांतिपूर्ण क्षेत्र फ्रैंकोफोन में शरण लेने के लिए चले गए हैं।