जम्मू-कश्मीर: नगरोटा आतंकी हमले में दो सैन्य अधिकारी समेंत 7 जवान शहीद

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में मंगलवार की सबुह नगरोटा में कोर 16 आर्मी कैंप पर हुए आत्मघाती आतंकी हमले में 7 जवानों के शहीद होने की पुष्टि हुई है। शहीद हुए जवानों में सेना के 2 अधिकारी भी शामिल हैं।




मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार की सुबह करीब 5.30 बजे श्रीनगर हाईवे पर बने नगरोटा सैन्य कैंप के प्रवेश द्वार पर सेना की वर्दी में पहुंचे तीन आतंकवादियों ने ग्रेनेट से हमला कर कैंप में प्रवेश ​कर लिया था। कैंप के अंदर घुसे आतंकवादियों ने आफीसर्स मैस तक पहुंच कर वहां मौजूद एक अधिकारी के परिवार और 12 जवानों को बंधक बना लिया था। बंधकों को छुड़वाने की कार्रवाई के दौरान जवानों ने तीनों आतंकवादियों को मार गिराया, लेकिन इस कार्रवाई में सेना के अफसर और तीन जवान शहीद हो गए। जबकि आतंकियों द्वारा कैंप के भीतर घुसने के लिए किए गए ग्रेनेट हमले में एक लांसनायक समेंत प्रवेश द्वार पर तैनात दो जवानों शहीद हुए।




नगरोटा में हुए हमले के बाद वैष्णों देवी यात्रा के लिए जाने वाले यात्रियों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि सेना को ऐसे इनपुट मिले हैं कि कैंप में घुसे आतंकियों के साथ आए कुछ अन्य आतंकी अभी इलाके में मौजूद है। जो अपने नापाक मंसूबों को पूरा करने के लिए नगरोटा करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कटरा में किसी आतंकी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। कटरा वह स्थान है जहां से तीर्थ यात्री वैष्णों देवी की यात्रा शुरू करते हैं।

सेना के अधिकारियों का कहना है कि आतंकी हमले के बाद से इलाके में बड़े स्तर पर सर्च आॅपरेशन चलाया गया है। लेकिन अंधेरा जल्दी हो जाने के कारण आगे की कार्रवाई बुधवार को की जाएगी।




उधर कश्मीर के सांबा सेक्टर के चमलियाल में बीएसएफ की पैट्रोलिंग ट्रक पर हुए आतंकी हमले की जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि हुई है। बीएसएफ के अधिकारियों की माने तो एक ओर बीएसएफ के जवान आतंकवादियों से मुठभेड़ कर रहे थे तो दूसरी ओर एलओसी पार से पाकिस्तानी रेंजर्स उनकी बीएसएफ की चौकियों पर गोलियां दाग रहे थे। जिस वजह से आतंकियों के खिलाफ किए गए आॅपरेशन में कुछ वाधाएं जरूर आईं लेकिन बीएसएफ के जवानों ने तीनों आतंकवादियों को ढ़ेर कर दिया।