रांची: कर्ज से परेशान होकर परिवार ने की सामूहिक आत्महत्या

seven people dead
रांची : घर में मिले एक ही परिवार के सात लोगों के शव, ले रखा था लाखों का कर्ज

रांची। रांची के कांके ब्लाक में किराए का मकान लेकर रहने वाले परिवार के सात लोगों के शव पड़े मिले। दूसरे किराएदारों की नजर उन शवों पर पड़ी तो वहां हड़कंप मच गया। आनन-फानन में इसकी सूचना पुलिस को दी गई। वो मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया जा रहा है कि परिवार के उपर करीब बीस लाख रूपए का कर्ज था, जिसको लेकर वो काफी परेशान थे। गरीबी का आलम ये था कि बीते चार माह से मकान का किराया भी नही दे पाए थे।

बताया जा रहा है कि सभी लोग मूलरूप से बिहार के भागलपुर के रहने वाले थे। मृतकों में दीपक झा (45) पत्नी पिंकी झा (40), दीपक का छोटा भाई रुपेश (30), दीपक की बेटी दृष्टि (5), बेटा जंगू (डेढ़ साल) और बुुजुर्ग माता-पिता शामिल हैं। इनमे से दीपक और रूपेश के शव फांसी के फंदे पर लटके थे, जबकि बाकी लोगों के शव बिस्तर पर थे। पड़ोसियों के मुताबिक दीपक के बेटे जंगू को कोई गंभीर बीमारी थी, जिसके इलाज के लिए उसने करीब बीस लाख रूपए कर्ज ले रखा था।

{ यह भी पढ़ें:- हिमाचल : लगातार जारी हैं बारिश का कहर, पांच लोगों की मौत }

पुलिस को पूछताछ में पता चला कि बेटी दृष्टि को स्कूल ले जाने के लिए सुबह वैन पहुंची। ड्राइवर ने हॉर्न बजाया पर घर से कोई बाहर नहीं निकला। इसके बाद दूसरे किराएदार का एक बच्चा दृष्टि को स्कूल वैन आने की जानकारी देने घर में गया। जहां की हालत देखकर वो चिल्लाते हुए बाहर आया और सबको जानकारी दी। तब इसकी सूचना मकान मालिक को दी गई।

{ यह भी पढ़ें:- रांची में बुराड़ी कांड जैसी सनसनीखेज वारदात, एक ही परिवार के सात लोगों ने की आत्महत्या }

रांची। रांची के कांके ब्लाक में किराए का मकान लेकर रहने वाले परिवार के सात लोगों के शव पड़े मिले। दूसरे किराएदारों की नजर उन शवों पर पड़ी तो वहां हड़कंप मच गया। आनन-फानन में इसकी सूचना पुलिस को दी गई। वो मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया जा रहा है कि परिवार के उपर करीब बीस लाख रूपए का कर्ज था, जिसको लेकर वो काफी परेशान थे। गरीबी का आलम…
Loading...