शान-ए-अवध इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का आगाज

shan-e-awadh

Shaan E Awadh International Film Festival

लखनऊ। अवध आर्ट सोसाइटी द्वारा आयोजित 5th शान-ए-अवध इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल मंगलवार 7 नवम्बर से शुरू हो रहा है। फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत संगीत नाटक अकादमी के पीछे स्थित बौद्ध शोध संस्थान में हो रही है। मंगलवार को फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत मशूहर दिवंगत फिल्मकार कुंदन शाह को श्रद्धांजलि अर्पण के साथ होगी।

कुंदन शाह अपनी लोकप्रिय फिल्म जाने भी दो यारों, दिल है तुम्हारा, कभी हां कभी न, क्या कहना, पी से पीएम तक आदि के लिए जाने जाते हैं। साथ ही टेलीविजन पर उनके द्वारा निर्देशित मशहूर सीरियल ‘वागले की दुनिया’ काफी प्रसिद्ध रहा था। पहले दिन कार्यक्रम की शुरुआत फिल्म निर्देशक कुंदन शाह पर आधारित एक डॉक्यूमेंट्री के प्रदर्शन के साथ होगी। जिसमें उनसे जुड़ीं यादें ताजी हो सकेंगी।

इसके बाद उनकी याद में तीन मिनट का मौन रखा जाएगा। श्रद्धांजलि सभा के बाद पिता-पुत्री के मार्मिक रिश्तों पर आधारित फिल्म ‘डैडीज डॉटर’ का प्रदर्शन होगा, जिसे लखनऊ के ही अभिमन्यु चौहान ने निर्देशित किया है। यह फिल्म पूरी तरह से लखनऊ में और लखनऊ के कलाकारों के साथ बनी है, यह फिल्म पिता और बेटी के भावनात्मक रिश्तों पर अधारित है।

यह इस फिल्म का पहला प्रदर्शन होगा, जो कि आने वाले समय में रिलीज़ के लिए भी तैयार है। इस फिल्म की अवधि डेढ़ घंटे की है। पहले दिन के कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथियों में कलाम फाउंडेशन के सीईओ श्री सृजनपाल सिंह, इतिहासकार व गीतकार श्री योगेश प्रवीण, एसआर ग्रुप के चेयरमैन श्री पवन सिंह चौहान आदि मौजूद रहेंगे।

शान-ए-अवध इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में इस वर्ष 2017 में करीब 45 देशों की 437 फिल्में चयन के लिए प्राप्त हुईं, जिसमें से 43 फिल्मों का चयन प्रदर्शन के लिए हुआ है। इस वर्ष यह चार दिवसीय फिल्म फेस्टिवल 7 नवम्बर से 10 नवम्बर तक गोमतीनगर के अंतरराष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान (संगीत नाटक अकादमी के बगल में) में आयोजित होगा।

इसके साथ ही फिल्म फेस्टिवल में कुंदन शाह द्वारा निर्देशित मशहूर सीरियल ‘वागले की दुनिया’ के मुख्य पात्र और फिल्मों की दुनिया में जाना माना नाम अन्जन श्रीवास्तव फेस्टिवल में शिरकत करेंगे।

लखनऊ। अवध आर्ट सोसाइटी द्वारा आयोजित 5th शान-ए-अवध इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल मंगलवार 7 नवम्बर से शुरू हो रहा है। फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत संगीत नाटक अकादमी के पीछे स्थित बौद्ध शोध संस्थान में हो रही है। मंगलवार को फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत मशूहर दिवंगत फिल्मकार कुंदन शाह को श्रद्धांजलि अर्पण के साथ होगी। कुंदन शाह अपनी लोकप्रिय फिल्म जाने भी दो यारों, दिल है तुम्हारा, कभी हां कभी न, क्या कहना, पी से पीएम तक आदि के लिए जाने जाते…