सीएए के खिलाफ जाफराबाद रोड बना ‘शाहीन बाग’, धरने पर बैठीं महिलाएं, भारी सुरक्षा बल तैनात

caa
सीएए के खिलाफ जाफराबाद रोड बना 'शाहीन बाग', धरने पर बैठीं महिलाएं, भारी सुरक्षा बल तैनात

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। शाहीन बाग में चल रहा धरना प्रदर्शन अभी खत्म नहीं हुआ था कि दिल्ली की जाफराबाद में सीएए के खिलाफ महिलाएं धरने पर बैठ गईं। प्रदर्शनकारी महिलाएं जाफराबाद मेट्रो स्टेशन परिसर में जमी हैं। वहीं, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने मेट्रो स्टेशन बंद कर दिया है।

Shaheen Bagh Becomes Zafarabad Road Against Caa Women Sitting On Dharna Heavy Security Forces Deployed :

उधर, महिलाओं के धरने पर बैठे जाने की सूचना मिलने के बाद भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। उत्तर पूर्वी जिले के पुलिस उपायुक्त वेद प्रकाश सूर्या मौके पर हैं। अधिकारियों ने प्रदर्शन कर रही महिलाओं व लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन जब वह तैयार नहीं हुए तो पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों ने महिलाओं को खदेड़ दिया। हालांकि खदेड़ने के बाद वापस सड़क पर आकर डट गईं।

देर रात तक जाफराबाद में अफरा-तफरी का माहौल रहा। पुलिस अधिकारी ड्रोन उड़ाकर हालात का जायजा ले रहे थे। बताया जा रहा है कि आज सुबह महिलाओं को जाफराबाद रोड से लेकर राजघाट तक पैदल मार्च निकालना है। दिल्ली पुलिस ने मार्च निकालने की अनुमति नहीं दी है।

वहीं, इसको लेकर रविवार को पुलिस अधिकारियों ने एतिहात के तौर पर शनिवार रात से ही जाफराबाद रोड पर पुलिस और अर्द्धसैनिक बल तैनात को दिया था। रोड पर पुलिस तैनात होते ही जाफराबाद में तनाव का माहौल हो गया। करीब साढ़े दस बजे धरने पर बैठी महिलाएं जाफराबाद मुख्य सड़क पर आ गईं और मेट्रो स्टेशन के पास जाम लगा दिया। आधे घंटे तक महिलाओं ने सड़क को बंद कर दिया।

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। शाहीन बाग में चल रहा धरना प्रदर्शन अभी खत्म नहीं हुआ था कि दिल्ली की जाफराबाद में सीएए के खिलाफ महिलाएं धरने पर बैठ गईं। प्रदर्शनकारी महिलाएं जाफराबाद मेट्रो स्टेशन परिसर में जमी हैं। वहीं, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने मेट्रो स्टेशन बंद कर दिया है। उधर, महिलाओं के धरने पर बैठे जाने की सूचना मिलने के बाद भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। उत्तर पूर्वी जिले के पुलिस उपायुक्त वेद प्रकाश सूर्या मौके पर हैं। अधिकारियों ने प्रदर्शन कर रही महिलाओं व लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन जब वह तैयार नहीं हुए तो पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों ने महिलाओं को खदेड़ दिया। हालांकि खदेड़ने के बाद वापस सड़क पर आकर डट गईं। देर रात तक जाफराबाद में अफरा-तफरी का माहौल रहा। पुलिस अधिकारी ड्रोन उड़ाकर हालात का जायजा ले रहे थे। बताया जा रहा है कि आज सुबह महिलाओं को जाफराबाद रोड से लेकर राजघाट तक पैदल मार्च निकालना है। दिल्ली पुलिस ने मार्च निकालने की अनुमति नहीं दी है। वहीं, इसको लेकर रविवार को पुलिस अधिकारियों ने एतिहात के तौर पर शनिवार रात से ही जाफराबाद रोड पर पुलिस और अर्द्धसैनिक बल तैनात को दिया था। रोड पर पुलिस तैनात होते ही जाफराबाद में तनाव का माहौल हो गया। करीब साढ़े दस बजे धरने पर बैठी महिलाएं जाफराबाद मुख्य सड़क पर आ गईं और मेट्रो स्टेशन के पास जाम लगा दिया। आधे घंटे तक महिलाओं ने सड़क को बंद कर दिया।