फिल्ममेकर का शर्मनाक बयान, कहा- कंडोम लेकर चले महिलाएं, रेपिस्ट से कॉपरेट करें

rape
फिल्ममेकर का शर्मनाक बयान, कहा- कंडोम लेकर चले महिलाएं, रेपिस्ट से कॉपरेट करें

नई दिल्ली। सोशल मीडिया व अन्य जगहों पर खुद को फिल्ममेकर बताने वाले डेनियल श्रवण (Daniel Shravan) ने देश में रेप (Rape) को लीगल करने की वकालत की है। विशाखापट्‌टनम के फिल्ममेकर डैनियल श्रवण की उस पोस्ट को लेकर आलोचना हो रही है जिसमें उन्होंने कहा था कि पुलिस को फोन करने के बजाय महिलाओं को कंडोम साथ रखना चाहिए और हत्या से बचने के लिए रेपिस्ट के साथ सहयोग करना चाहिए।

Shameful Statement Of Filmmaker Said Women Carrying Condoms Corporate With Rapist :

फेसबुक पोस्ट पर लोगों ने जमकर उसकी खबर ली। लोगों की प्रतिक्रियाओं पर कुछ देर उलझने के बाद उसने अपनी पोस्ट को डिलीट कर दिया। लेकिन उसके पोस्ट के स्‍क्रीनशॉट्स सोशल मीडिया पर तैर गए। कई ट्विटर वेरीफाइड अकाउंट वाले व अन्य बड़ी शख्‍सियतों ने फिल्ममेकर के एफबी पोस्ट के स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए उसकी निंदा की है।

रेप के बारे में एफबी पर डेनियल श्रवण ने क्या लिखा, “सरकार को बिना हिंसा वाले रेप मामलों को कानूनी मान्यता दे देनी चाहिए। रेप के बाद हत्या को रोकिए। 18 साल से ज्यादा की सभी लड़कियों को रेप के बारे में विस्तार से बताया जाना चाहिए। उन्हें मर्दों की सेक्सुअल इच्छाओं को नकारना नहीं चाहिए। बल्कि उन्हें कॉन्‍डोम का इस्तेमाल करना चाहिए। केवल तभी ऐसी हिंसात्मक घटनाओं को रोका जा सकता है। ऐसा सोचना मूर्खतापूर्ण है कि वीरप्पन को मार देने से तस्करी पर लगाम लग जाएगी या फिर लादेन को मार देने से आतंकवाद पर काबू पा लिया जाएगा। ठीक उसी तरह से निर्भया एक्ट भी रेप और रेप के दौरान हिंसा को नहीं रोक पाएगा।”

उसने आगे लिखा, “खासतौर पर भारतीय लड़कियों को सेक्स एजुकेशन दी जानी चाहिए। खासतौर पर 18 साल की उम्र में आते ही उन्हें कॉन्‍डोम साथ लेकर चलना चाहिए। बहुत आम तर्क है, अगर मर्दों की इच्छाएं पूरी होंगी तो वे महिलाओं को नहीं मारेंगे। सरकार को कुछ इस तरह की योजना बनानी चाहिए।”  

 

नई दिल्ली। सोशल मीडिया व अन्य जगहों पर खुद को फिल्ममेकर बताने वाले डेनियल श्रवण (Daniel Shravan) ने देश में रेप (Rape) को लीगल करने की वकालत की है। विशाखापट्‌टनम के फिल्ममेकर डैनियल श्रवण की उस पोस्ट को लेकर आलोचना हो रही है जिसमें उन्होंने कहा था कि पुलिस को फोन करने के बजाय महिलाओं को कंडोम साथ रखना चाहिए और हत्या से बचने के लिए रेपिस्ट के साथ सहयोग करना चाहिए। फेसबुक पोस्ट पर लोगों ने जमकर उसकी खबर ली। लोगों की प्रतिक्रियाओं पर कुछ देर उलझने के बाद उसने अपनी पोस्ट को डिलीट कर दिया। लेकिन उसके पोस्ट के स्‍क्रीनशॉट्स सोशल मीडिया पर तैर गए। कई ट्विटर वेरीफाइड अकाउंट वाले व अन्य बड़ी शख्‍सियतों ने फिल्ममेकर के एफबी पोस्ट के स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए उसकी निंदा की है। रेप के बारे में एफबी पर डेनियल श्रवण ने क्या लिखा, "सरकार को बिना हिंसा वाले रेप मामलों को कानूनी मान्यता दे देनी चाहिए। रेप के बाद हत्या को रोकिए। 18 साल से ज्यादा की सभी लड़कियों को रेप के बारे में विस्तार से बताया जाना चाहिए। उन्हें मर्दों की सेक्सुअल इच्छाओं को नकारना नहीं चाहिए। बल्कि उन्हें कॉन्‍डोम का इस्तेमाल करना चाहिए। केवल तभी ऐसी हिंसात्मक घटनाओं को रोका जा सकता है। ऐसा सोचना मूर्खतापूर्ण है कि वीरप्पन को मार देने से तस्करी पर लगाम लग जाएगी या फिर लादेन को मार देने से आतंकवाद पर काबू पा लिया जाएगा। ठीक उसी तरह से निर्भया एक्ट भी रेप और रेप के दौरान हिंसा को नहीं रोक पाएगा।" उसने आगे लिखा, "खासतौर पर भारतीय लड़कियों को सेक्स एजुकेशन दी जानी चाहिए। खासतौर पर 18 साल की उम्र में आते ही उन्हें कॉन्‍डोम साथ लेकर चलना चाहिए। बहुत आम तर्क है, अगर मर्दों की इच्छाएं पूरी होंगी तो वे महिलाओं को नहीं मारेंगे। सरकार को कुछ इस तरह की योजना बनानी चाहिए।"