1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. शारदीय नवरात्रि 2021: कल है महानवमी, मां सिद्धिदात्री को इन मंत्रों से करें से करें प्रसन्न

शारदीय नवरात्रि 2021: कल है महानवमी, मां सिद्धिदात्री को इन मंत्रों से करें से करें प्रसन्न

शारदीय नवरात्रि के अंतिम दिन महानवमी मनाई जाती है।शारदीय नवरात्रि की नवमी तिथि 14 अक्टूबर दिन गुरुवार को है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को महानवमी कहा जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

शारदीय नवरात्रि 2021:  शारदीय नवरात्रि के अंतिम दिन महानवमी मनाई जाती है।शारदीय नवरात्रि की नवमी तिथि 14 अक्टूबर दिन गुरुवार को है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को महानवमी कहा जाता है। महानवमी के दिन मां दुर्गा के सिद्धिदात्री स्वरुप की पूजा करते हैं। महानमी को मां सिद्धिदात्री की पूजा करने से सभी प्रकार के भय, रोग और शोक का समापन हो जाता है। नवमी तिथि को कन्याओं को भोजन कराया जाता है। इसे महानवमी (maha navami ke upay in hindi) भी कहा जाता है, ये दिन नवरात्रि उत्सव का भी एक हिस्सा है। महा नवमी (Navratri Maha Navami Ke Totke) नवरात्रि का नौवां दिन होता है।

पढ़ें :- 4 अक्टूबर 2022 का राशिफल : महानवमी पर इन राशियों को मिलेगा मां दुर्गा का आशीर्वाद, पढ़ें अपनी राशि का हाल

मां सिद्धिदात्री की प्रार्थना

सिद्ध गन्धर्व यक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि।

सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी।

मंत्र

पढ़ें :- Chaitra Navratri 2022 : देवी दुर्गा के नवें स्वरूप  में माँ सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है, जानें महानवमी मुहूर्त के बारे में

अमल कमल संस्था तद्रज:पुंजवर्णा, कर कमल धृतेषट् भीत युग्मामबुजा च।

मणिमुकुट विचित्र अलंकृत कल्प जाले; भवतु भुवन माता संत्ततम सिद्धिदात्री नमो नम:।

मां सिद्धिदात्री बीज मंत्र

ह्रीं क्लीं ऐं सिद्धये नम:।

पढ़ें :- शारदीय नवरात्रि 2021: आज मां सिद्धिदात्री की पूजा-अर्चना का दिन ,साधकों की लौकिक, पारलौकिक सभी प्रकार की कामनाओं की पूर्ति हो जाती
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...