जवाबदेही अदालत के समक्ष पेश हुईं शरीफ की बेटी मरियम

नई दिल्ली। अपदस्थ पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज अपने खिलाफ राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो द्वारा (एनएबी) लंदन में परिवार के स्वामित्व वाली संपत्तियों से संबंधित दर्ज मामले में यहां सोमवार को अदालत में पेश हुई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मरियम कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत पहुंची, उनके साथ सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) पार्टी वरिष्ठ नेता और मंत्री भी थे। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो द्वारा हिरासत में लिए गए उनके पति व सेवानिवृत्त कैप्टन मुहम्मद सफदर भी बाद में अदालत में पेश किए गए।

{ यह भी पढ़ें:- पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने निलंबित किए 260 निर्वाचित जनप्रतिनिधि }

सुनवाई के दौरान पीएमएल-एन के नेता तारिक फजल चौधरी ने मरियम की तरफ से पचास लाख पाकिस्तानी रुपये (47,450 डॉलर) का जमानती बांड जमा किया। अदालत में नवाज शरीफ द्वारा दायर एक आवेदन पर भी सुनवाई हुई, जिसमें अदालत में उपस्थित होने से स्थायी छूट की मांग की गई थी।
जवाबदेही अदालत के न्यायाधीश मोहम्मद बशीर ने पूर्व प्रधानमंत्री के आवेदन पर फिलहाल अपने निर्णय को सुरक्षित रखा है।

कैप्टन सफदर को सोमवार तड़के लंदन से पत्नी मरियम के साथ लौटने के कुछ मिनटों बाद ही एनएबी की टीम ने बेनजीर भुट्टो अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हिरासत में ले लिया। नोटिस जारी करने के बावजूद पिछली सुनवाईयों में पेश नहीं होने पर जवाबदेही अदालत द्वारा कैप्टन सफदर के लिए गैर-जमानती वारंट जारी करने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया।

{ यह भी पढ़ें:- पाकिस्तान के इस काम से खुश होकर डोनाल्ड ट्रंप के मुंह से निकले मीठे बोल }

सर्वोच्च अदालत की पांच सदस्यीय पीठ ने 28 जुलाई को एनएबी को नवाज शरीफ और उनके बच्चों के खिलाफ छह हफ्तों में जवाबदेही अदालत में मामला दाखिल करने का आदेश दिया था और ट्रायल कोर्ट को मामले पर छह हफ्तों के भीतर फैसला लेने का निर्देश दिया।