लखनऊ। यूपी के चर्चित सलीम-सोहराब गैंग का शूटर और 15 हजार का इनामिया सुनील शर्मा शुक्रवार तड़के पुलिस एनकाउंटर में मार गिराया गया। हिस्ट्रीशीटर सुनील बीते एक महीने पहले पेशी के दौरान लखनऊ कोर्ट से भाग निकला था। 27 अगस्त को लखनऊ के एक व्यापारी से 20 लाख की रंगदारी मांगने की शिकायत पर लखनऊ पुलिस एक्टिव हुई। शूटर सुनील की तलाश के लिये पुलिस की तीन टीमें लगाई गयी थीं। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने शुक्रवार सुबह शूटर सुनील को घेर लिया। खुद को फंसता देख सुनील ने पिस्टल से फायर शुरू कर दी, पुलिस की जवाबी कार्रवाई में शूटर सुनील मारा गया।

शुक्रवार सुबह शूटर सुनील शर्मा के बारे में लखनऊ पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि वो मुंशी पुलिया इलाके में मौजूद है। पुलिस टीम ने सुनील का पीछा करना शुरू किया और गोमतीनगर विस्तार में घेर लिया। पुलिस ने सुनील को सरेंडर करने की चेतावनी दी लेकिन सुनील ने पिस्टल से फायर करनी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस टीम ने भी फायरिंग की। पुलिस की फायरिंग में शूटर सुनील को गोली लगी, उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गयी।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ में HDFC बैंक के बाहर 10 लाख की लूट, CCTV खंगाल रही पुलिस }

कोर्ट से भागा निकला था सुनील-
बीते 8 अगस्त को हिस्ट्रीशीटर सुनील लखनऊ कोर्ट से पेशी के दौरान भाग निकला था। आरोपी सुनील व्यापारियों से रंगदारी मांगने और अमीनाबाद के सभासद पप्पू पांडेय की हत्या का आरोपी था। कोर्ट से भागने के बाद से पुलिस सुनील की सरगर्मी से तलाश कर रही थी।

व्यापारी से मांगी रंगदारी-
बीते 27 अगस्त को हिस्ट्रीशीटर सुनील शर्मा ने कृष्णानगर के व्यापारी अजय रस्तोगी से 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी। व्यापारी ने इस मामले की शिकायत सरोजनीनगर थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू करते हुए जब नंबर ट्रेस किया, तो नंबर स्विच ऑफ आया। लखनऊ में सुनील की मौजूदगी को लेकर पुलिस की तीन टीमों को हिस्ट्रीशीटर सुनील के पीछे लगाया गया था। शुक्रवार को मुखबिर से पुलिस को सूचना मिली कि सुनील मुंशी पुलिया चौराहे पर एक साथी के साथ मौजूद है।

{ यह भी पढ़ें:- CM योगी के नाम से अफसरों पर रौब गांठते थे ये नटवरलाल, UP STF ने धर दबोचा }

पुलिस टीम ने जब सुनील का पीछा करना शुरू किया, तो सुनील हजरतगंज होता हुआ गोमतीनगर विस्तार जा निकला जहां पुलिस ने उसे घेरकर मार गिराया।

सलीम-सोहराब गैंग से था खास नाता-
शूटर सुनील शर्मा सीरियल किलर भाइयों सलीम, सोहराब और रुस्तम का शार्प शूटर था। सुनील सीरियल किलर भाइयों के इशारे पर व्यापारियों से धन उगाही भी करता था।

एडीजी जोन लखनऊ अभय प्रसाद के मुताबिक, लखनऊ पुलिस के गाज़ीपुर थाने के इंस्पेक्टर गिरजाशंकर त्रिपाठी को इस बात की सूचना मिली थी कि बदमाश बाइक से जा रहा है। जिस पर एसओ गोसाईगंज डीके शाही और इंस्पेक्टर गाज़ीपुर ने सुनील को पकड़ने के लिए मशक्कत की लेकिन वो भागने लगा। शहीद पथ पकड़ते ही बदमाश सुनील शर्मा गोमती बैराज के रास्ते में मुड़ गया। यहां उसकी बाइक कुछ ही दूर जाते ही फिसल गयी और वो घबराता हुए अपनी पिस्टल से पुलिस के ऊपर फायरिंग करने लगा। जिसके जवाब में पुलिस ने एनकाउंटर को अंजाम दिया।

{ यह भी पढ़ें:- माफिया आनंदपाल: अपने शिकार के लिये बना रखा था 'पिंजरा' और पुलिस के लिए 'किला' }

ये हुई बरामदगी-

शूटर सुनील शर्मा के पास दो कंट्री मेड पिस्टल बरामद हुई हैं। इसी के साथ कई कारतूस घटना स्थल से बरामद हुए हैं। एडीजी जोन ने पुलिस टीम की हौसलाअफजाई के लिये इनमा देने की सिफ़ारिश भी की है।