BJP के ‘शत्रु’ का हमला, कहा- मंत्रालय से राफेल की फाइल चोरी होना शर्मनाक

shatru

नई दिल्ली। बीजेपी के असंतुष्ट सांसद और बॉलीवुड अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने राफेल से जुड़े दस्तावेज के गायब होने को बहुत शर्मनाक और दुखद बताया। पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पहुंचकर उनसे मुलाकात की।

Shatrughan Sinha Slams Defence Ministry On Missing Rafael File :

दोनों के बीच करीब डेढ़ घंटे तक बातचीत हुई। वहां से निकलने के बाद पत्रकारों से मुखातिब सिन्हा ने बीजेपी छोड़ने के बावत पूछे जाने पर कहा, “अब तो घड़ी नजदीक ही आ रही है। इंतजार कीजिए, परिणाम मिलेंगे और अच्छे मिलेंगे।”  

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके परिजनों से मुलाकात के बाद सिन्हा ने पटना में मीडिया से कहा, ‘रक्षा मंत्रालय से दिनदहाड़े फाइल का गायब हो जाना, वह भी ऐन वक्त पर जब सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई हो, दुखद और शर्मनाक है।

उस वक्त यह कहना कि फाइलें गायब हो चुकी हैं, दस्तेवाज गुम हैं तो मैं समझता हूं कि यह बड़े दुख की बात है।’ बता दें कि राफेल डील से जुड़ी फाइल गायब होने पर सियासी उबाल के बीच इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में भी गुरुवार को सुनवाई हुई।

सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल ने सरकार की तरफ से कोर्ट को बताया कि जिन दस्तावेजों पर ऐडवोकेट प्रशांत भूषण भरोसा कर रहे हैं, वे रक्षा मंत्रालय से चुराए गए हैं। अटॉर्नी जनरल ने कहा कि राफेल डील से जुड़े दस्तावेजों को सार्वजनिक करने वाला सरकारी गोपनीयता कानून के तहत और अदालत की अवमानना का दोषी है।

सरकार दे एयर स्ट्राइक का सबूत

शत्रुघ्न ने कहा कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायु सेना द्वारा की गए एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए इस संबंध में सरकार को सबूत देना चाहिए। कितने आतंकी मारे गए इस बात की चर्चा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुरू की। सरकार के लोगों को अपनी बातें एक सुर में करनी चाहिए। 

अध्यक्ष महोदय ने बगैर किसी आधार और सबूत के कह दिया कि 250 आतंकी मारे गए। राधामोहन सिंह ने कहा 400 मरे। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा 400 मरे। आप बिना किसी आधार के मारे गए आतंकियों की संख्या की बात करेंगे तो सवाल उठेंगे।

अगर आप सही मायने में सेना का मनोबल बढ़ाना चाहते हैं तो आपका कर्तव्य बनता है कि इस संबंध में कुछ दिखाएं। इससे कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।  

नई दिल्ली। बीजेपी के असंतुष्ट सांसद और बॉलीवुड अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने राफेल से जुड़े दस्तावेज के गायब होने को बहुत शर्मनाक और दुखद बताया। पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पहुंचकर उनसे मुलाकात की।

दोनों के बीच करीब डेढ़ घंटे तक बातचीत हुई। वहां से निकलने के बाद पत्रकारों से मुखातिब सिन्हा ने बीजेपी छोड़ने के बावत पूछे जाने पर कहा, "अब तो घड़ी नजदीक ही आ रही है। इंतजार कीजिए, परिणाम मिलेंगे और अच्छे मिलेंगे।"  

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके परिजनों से मुलाकात के बाद सिन्हा ने पटना में मीडिया से कहा, ‘रक्षा मंत्रालय से दिनदहाड़े फाइल का गायब हो जाना, वह भी ऐन वक्त पर जब सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई हो, दुखद और शर्मनाक है।

उस वक्त यह कहना कि फाइलें गायब हो चुकी हैं, दस्तेवाज गुम हैं तो मैं समझता हूं कि यह बड़े दुख की बात है।’ बता दें कि राफेल डील से जुड़ी फाइल गायब होने पर सियासी उबाल के बीच इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में भी गुरुवार को सुनवाई हुई।

सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल ने सरकार की तरफ से कोर्ट को बताया कि जिन दस्तावेजों पर ऐडवोकेट प्रशांत भूषण भरोसा कर रहे हैं, वे रक्षा मंत्रालय से चुराए गए हैं। अटॉर्नी जनरल ने कहा कि राफेल डील से जुड़े दस्तावेजों को सार्वजनिक करने वाला सरकारी गोपनीयता कानून के तहत और अदालत की अवमानना का दोषी है।

सरकार दे एयर स्ट्राइक का सबूत

शत्रुघ्न ने कहा कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायु सेना द्वारा की गए एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए इस संबंध में सरकार को सबूत देना चाहिए। कितने आतंकी मारे गए इस बात की चर्चा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुरू की। सरकार के लोगों को अपनी बातें एक सुर में करनी चाहिए। 

अध्यक्ष महोदय ने बगैर किसी आधार और सबूत के कह दिया कि 250 आतंकी मारे गए। राधामोहन सिंह ने कहा 400 मरे। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा 400 मरे। आप बिना किसी आधार के मारे गए आतंकियों की संख्या की बात करेंगे तो सवाल उठेंगे।

अगर आप सही मायने में सेना का मनोबल बढ़ाना चाहते हैं तो आपका कर्तव्य बनता है कि इस संबंध में कुछ दिखाएं। इससे कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।