Sheetala Saptami 2019: आज है शीतला सप्तमी, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के बारे में…

Sheetala Saptami 2019: आज है शीतला सप्तमी, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के बारे में...
Sheetala Saptami 2019: आज है शीतला सप्तमी, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के बारे में...

नई दिल्ली। वैसे तो हर साल होली के सातवें दिन शीतला सप्तमी मनाई जाती है इस दिन को कई जगह बासौड़ा या बसोरा (Basoda) भी कहा जाता है। इस बार यह शीतला सप्तमी 27 मार्च यानि आज के दिन मनाई जा रही है। मान्यता है कि इस दिन महिलाएं सुबह अंधेरे में रात के बने मीठे चावल, हल्दी, चने की दाल और लोटे में पानी लेकर जहां होलिका दहन हुई होती है उस जगह जाकर पूजा करती हैं। आइये जानते हैं हैं पूजा की शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के बारे में…

Sheetla Saptami 2019 Sheetla Saptami Vrat Date Time Subh Muhurat :

शीतला सप्तमी का शुभ मुहूर्त     

शीतला अष्टमी पूजा का मुहूर्त: 06:20 से 18:32 बजे।
मुहूर्त की अवधि: 12 घंटे 12 मिनट

अष्टमी तिथि आरंभ: 27 मार्च 2019, बुधवार 20:55 बजे।
अष्टमी तिथि समाप्त: 28 मार्च 2019, गुरुवार 22:34 बजे।


शीतला सप्तमी की पूजा विधि


हर पूजा की तरह इसमें भी सुबह पहले स्नान करें।
इसके बाद शीतला माता की पूजा करें।
स्नान और पूजा के वक्त ‘हृं श्रीं शीतलायै नमः’ का उच्चारण करते रहें।
माता को भोग में रात के बने गुड़ वाले चावल चढ़ाएं।
व्रत में इन्हीं चावलों को खाएं।

शीतला सप्तमी के व्रत का महत्व


शीतला माता ये व्रत रखने से बच्चों की सेहत अच्छी बनी रहती है।

बच्चों को किसी भी प्रकार का बुखार, आंखों के रोग और ठंड से होने वाली बीमारियां नहीं होती।

कहा जाता है कि शीतला सप्तमी के बाद बासी भोजन नहीं किया जाता है। यह दिन बासी भोजन खाने का आखिरी दिन होता है ऐसा इसलिए क्योंकि इसके बाद से गर्मी का मौसम शुरू हो जाता है।

नई दिल्ली। वैसे तो हर साल होली के सातवें दिन शीतला सप्तमी मनाई जाती है इस दिन को कई जगह बासौड़ा या बसोरा (Basoda) भी कहा जाता है। इस बार यह शीतला सप्तमी 27 मार्च यानि आज के दिन मनाई जा रही है। मान्यता है कि इस दिन महिलाएं सुबह अंधेरे में रात के बने मीठे चावल, हल्दी, चने की दाल और लोटे में पानी लेकर जहां होलिका दहन हुई होती है उस जगह जाकर पूजा करती हैं। आइये जानते हैं हैं पूजा की शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के बारे में...

शीतला सप्तमी का शुभ मुहूर्त     

शीतला अष्टमी पूजा का मुहूर्त: 06:20 से 18:32 बजे।
मुहूर्त की अवधि: 12 घंटे 12 मिनट

अष्टमी तिथि आरंभ: 27 मार्च 2019, बुधवार 20:55 बजे।
अष्टमी तिथि समाप्त: 28 मार्च 2019, गुरुवार 22:34 बजे।


शीतला सप्तमी की पूजा विधि


हर पूजा की तरह इसमें भी सुबह पहले स्नान करें।
इसके बाद शीतला माता की पूजा करें।
स्नान और पूजा के वक्त 'हृं श्रीं शीतलायै नमः' का उच्चारण करते रहें।
माता को भोग में रात के बने गुड़ वाले चावल चढ़ाएं।
व्रत में इन्हीं चावलों को खाएं।

शीतला सप्तमी के व्रत का महत्व


शीतला माता ये व्रत रखने से बच्चों की सेहत अच्छी बनी रहती है।

बच्चों को किसी भी प्रकार का बुखार, आंखों के रोग और ठंड से होने वाली बीमारियां नहीं होती।

कहा जाता है कि शीतला सप्तमी के बाद बासी भोजन नहीं किया जाता है। यह दिन बासी भोजन खाने का आखिरी दिन होता है ऐसा इसलिए क्योंकि इसके बाद से गर्मी का मौसम शुरू हो जाता है।