सीएम अरविंद केजरीवाल से शीला दीक्षित ने की मुलाकात, जनसमस्यों को लेकर हुई चर्चा

shila and arveend
सीएम अरविंद केजरीवाल से शीला दीक्षित ने की मुलाकात, जनसमस्यों को लेकर हुई चर्चा

नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से पूर्व सीएम और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शीला दीक्षित ने मुलाकात की। इस दौरान कांग्रेस के कई अन्य नेता भी मौजूद थे। मुलाकात के दौरान दिल्ली में बिजली और पानी की सप्लाई में आ रही दिक्कतों को लेकर चर्चा हुई। शीला दीक्षित का कहना था कि राज्य की आम जनता समस्याओं का सामना कर रही है।

Sheila Dikshit Meets Cm Arvind Kejriwal :

दोनों की मुलाकात के दौरान दिल्ली कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्य में मंत्री रहे हारुन यूसुफ भी मौजूद रहे। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के नेतृत्व में कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल अरविंद केजरीवाल से मिलने पहुंचा था। प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस की तरफ से शीला दीक्षित तीनों कार्यकारी अध्यक्ष हारुन यूसुफ, राजेश लिलोठिया और किरण वालिया मौजूद थीं।

मुलाकात के बाद पूर्व ऊर्जा मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हारुन यूसुफ ने बताया कि बिजली बिलों के फिक्स चार्ज और पेयजल किल्लत पर अरविंद केजरीवाल से बात हुई। गौरतलब है ​कि लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन का खूब प्रयास किया गया लेकिन वह असफल रहा। शीला दीक्षित लोकसभा का चुनाव भी लड़ी लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

शीला दीक्षित 15 वर्षों तक दिल्ली की सीएम भी रहीं हैं। 2013 में आम आदमी पार्टी के उभार के बाद राज्य से कांग्रेसी सत्ता के अंत के साथ ही शीला दीक्षित का कार्यकाल समाप्त हुआ था। इसके बाद पार्टी ने उन्हें उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण चेहरे के रूप में भेजा था लेकिन ये दांव सफल नहीं रहा।

नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से पूर्व सीएम और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शीला दीक्षित ने मुलाकात की। इस दौरान कांग्रेस के कई अन्य नेता भी मौजूद थे। मुलाकात के दौरान दिल्ली में बिजली और पानी की सप्लाई में आ रही दिक्कतों को लेकर चर्चा हुई। शीला दीक्षित का कहना था कि राज्य की आम जनता समस्याओं का सामना कर रही है। दोनों की मुलाकात के दौरान दिल्ली कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्य में मंत्री रहे हारुन यूसुफ भी मौजूद रहे। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के नेतृत्व में कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल अरविंद केजरीवाल से मिलने पहुंचा था। प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस की तरफ से शीला दीक्षित तीनों कार्यकारी अध्यक्ष हारुन यूसुफ, राजेश लिलोठिया और किरण वालिया मौजूद थीं। मुलाकात के बाद पूर्व ऊर्जा मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हारुन यूसुफ ने बताया कि बिजली बिलों के फिक्स चार्ज और पेयजल किल्लत पर अरविंद केजरीवाल से बात हुई। गौरतलब है ​कि लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन का खूब प्रयास किया गया लेकिन वह असफल रहा। शीला दीक्षित लोकसभा का चुनाव भी लड़ी लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। शीला दीक्षित 15 वर्षों तक दिल्ली की सीएम भी रहीं हैं। 2013 में आम आदमी पार्टी के उभार के बाद राज्य से कांग्रेसी सत्ता के अंत के साथ ही शीला दीक्षित का कार्यकाल समाप्त हुआ था। इसके बाद पार्टी ने उन्हें उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण चेहरे के रूप में भेजा था लेकिन ये दांव सफल नहीं रहा।