1. हिन्दी समाचार
  2. शिया वक्फ बोर्ड का ऐलान- कोई भी जमाती मस्जिद में मांगे पनाह तो न दें घुसने , पुलिस को सूचित करें

शिया वक्फ बोर्ड का ऐलान- कोई भी जमाती मस्जिद में मांगे पनाह तो न दें घुसने , पुलिस को सूचित करें

Shia Waqf Board Announcement Do Not Let Any Muslim Seek Refuge In The Mosque Inform The Police

लखनऊ। भारत में दिल्ली के निजामुद्दीन में हुई तबलीगी जमात के लोगों ने देश भर में कोरोना संक्रमण को फैलाने का काम किया हैं। लगातार जमातियों के ऊपर आरोप लगाये जा रहे हैं। वहीं शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी शुरूवात से ही तब्लीगी जमातियों के खिलाफ हैं। लेकिन अब उन्होने ऐलान कर दिया है कि कोई भी जमाती मस्जिद में पनाह मांगे तो उसे घुसने न दें, बल्कि तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दे दें।

पढ़ें :- विश्व के सबसे बड़े पर्यटन क्षेत्र के रूप में उभर रहा है केवड़िया: PM मोदी

बता दें कि इससे पहले वसीम रिज़वी ने केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिख कर मांग की है कि देश के बड़े डॉक्टरों से सलाह लेकर कोरोना वायरस से मरने वाले व्यक्तियों का अंतिम संस्कार जलाकर किया जाए। वही अब शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने प्रदेश के समस्त मुतवल्लियों को निर्देश जारी किया है। शनिवार को वीडियो जारी करते हुए वसीम रिजवी ने कहा कि किसी भी तबलीगी जमात को मस्जिदों या मदरसों में जगह नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि अगर कोई मुसलमान बताकर मस्जिद या मदरसे में रुकना चाहे तो फौरन पुलिस और शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड की हेल्पलाइन को सूचित करें।

वसीम रिजवी ने बताया नेपाल सीमा से सटी हुई मस्जिदों और मदरसों पर खास नजर रखी जाए। उन्होंने साफ कहा कि अगर किसी भी मुतवल्ली ने देशद्रोही को छुपाने की कोशिश की तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। वहीं सरकार से उसके खिलाफ एनएसए (NSA) लगाने की सिफारिश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड करेगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...